Hypertension remains the highest risk of heart failure in old age - बढ़ती उम्र में सबसे ज्यादा होता है हाइपरटेंशन से हार्ट फेल का खतरा DA Image
21 नवंबर, 2019|7:32|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बढ़ती उम्र में सबसे ज्यादा होता है हाइपरटेंशन से हार्ट फेल का खतरा

आम धारणा के विपरीत साठ वर्ष की उम्र और इसके बाद हार्ट फेल के मामलों का सबसे बड़ा कारण इस्कीमिक हृदय रोग या डायबिटीज नहीं है, बल्कि हाइपरटेंशन है। अपेक्षाकृत कम खतरनाक समझी जाने वाली हाइपरटेंशन की बीमारी वृद्धावस्था में हार्ट फेल में सबसे बड़ी भूमिका निभाती है।

मुंबई के केईएम अस्पताल के डॉक्टरों की अगुवाई में हुए एक अध्ययन में यह जानकारी सामने आई है। इसको जर्नल ऑफ फिजिशिअन ऑफ इंडिया में प्रकाशित किया गया है।

अध्ययन के लिए 60 वर्ष की उम्र से लेकर 80 वर्ष से अधिक उम्र के मरीजों का समूह बनाया गया था। इसमें 51.79 फीसदी मरीज 60 से 70 वर्ष की उम्र के बीच, 42.86 फीसदी मरीज 71 से 80 वर्ष के बीच और 5.35 फीसदी मरीज 80 वर्ष से अधिक उम्र के थे।

हार्ट फेल का शिकार होने वाले 73 फीसदी से अधिक मरीजों में हाइपरटेंशन की शिकायत पाई गई। अध्ययन में पाया गया कि सभी मरीजों में सांस की समस्या एक सामान्य लक्षण पाया गया। वहीं, 58.9 फीसदी मरीजों में थकान और 53.6 फीसदी मरीजों में एडिमा पेडल का लक्षण दिखा।

वहीं, हार्ट फेल होने में सबसे बड़ा लक्षण सीने की जलन रहा (92.85 फीसदी) और 73.21 फीसदी मामलों में गले के शिरे पर दबाव दिखा।

 यह है इस्केमिक हृदय रोग-
इस्केमिक दिल की बीमारियां ऐसे रोग हैं जो रक्तप्रवाह में कमी के कारण होते हैं। इसे कोरोनरी धमनी रोग भी कहा जाता है। ये ऐसी स्थिति है जिसमें हृदय को ऑक्सीजन युक्त रक्त की आपूर्ति करने वाली धमनियों में प्लाक बन जाता है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Hypertension remains the highest risk of heart failure in old age