DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   लाइफस्टाइल  ›  घर पर रहकर भी कोरोना को दें सकते हैं मात, एक्सपर्ट से जानें Self-Isolation के दौरान क्या करें क्या नहीं

जीवन शैलीघर पर रहकर भी कोरोना को दें सकते हैं मात, एक्सपर्ट से जानें Self-Isolation के दौरान क्या करें क्या नहीं

लाइव हिन्दुस्तान टीम,नई दिल्लीPublished By: Manju Mamgain
Tue, 20 Apr 2021 04:40 PM
घर पर रहकर भी कोरोना को दें सकते हैं मात, एक्सपर्ट से जानें Self-Isolation के दौरान क्या करें क्या नहीं

Tips to treat COVID Patient at home: कोरोना वायरस का कहर एक बार फिर तेजी से लोगों को अपना शिकार बना रहा है। खास बात यह है कि पहले की तुलना में इस बार कोरोना संक्रमित लोगों में या तो हल्के लक्षण दिख रहे हैं या फिर वह एसिम्प्टोमैटिक पाए जा रहे हैं। अगर आपको भी अपने भीतर ऐसे ही हल्के लक्षण या एसिम्प्टोमैटिक होने का शक हो रहा है तो अमेरिकी डॉक्टर से जानें सेल्फ-आइसोलेट करने का क्या सही तरीका और उसे करते समय किन बातों का रखना चाहिए ध्यान। 

अमेरिका की मैरीलैंड यूनिवर्सिटी के डॉक्टर फहीम यूनुस ने ट्विटर पर एक पोस्ट शेयर करके सेल्फ-आइसोलेट से जुड़े लोगों के सवाल काफी हद तक दूर करने की कोशिश की है। डॉ. फहीम ने बताया है कि अगर लोग कुछ बातों का ध्यान रखें तो वो घर पर ही रहकर इन्फेक्शन को हरा सकते हैं। उन्होंने दावा किया है कि घर पर ही सही तरीके से रहने से 80-90% लोग ठीक हो सकते हैं। आइए जानते हैं ये सवाल और उनके जवाब-

 

सेल्फ-आइसोलेट के लिए जरूरी नियम- 
-खुद को सेल्फ-आइसोलेट करने वाले लोगों को डॉ. फहीम की सबसे पहली सलाह यह है कि वो इन्फेक्शन की पहचान होते ही सबसे पहले खुद को 14 दिन के लिए घर के दूसरे लोगों से अलग कर लें। 
-सेल्फ-आइसोलेट होते समय अलग कमरे में रहे हैं, अलग बाथरूम का इस्तेमाल करें और अपने बर्तन भी अलग कर लें। 
-अगर आपके घर पर एक ही बाथरूम हो तो उसे यूज करने से पहले फेसमास्क पहनें और इस्तेमाल के बाद उसे अच्छे से साफ करें। 
- अगर आप अपनी रूम किसी दूसरे व्यक्ति के साथ शेयर कर रहे हैं तो उसके साथ अपना स्टीम, नेबुलाइजर, सीपैप शेयर न करें।
-कोरोना के मरीज के लिए घर में अलग और हवादार कमरा होना जरूरी है।

 

सेहत से जुड़ी ये बातें भी रखें ध्यान -
-रोज अपने शरीर का तापमान, सांस की गति, पल्स और बीपी नापें। 

-कोरोना संक्रमण के दौरान खुद को पॉजिटिव बनाए रखें। सकारात्मक रहने से व्यक्ति की बॉडी में इम्यूनिटी बेहतर होती है।
-डॉ. फहीम कहते हैं, इस दौरान ऐसे काम करने चाहिए जिनसे आपके मन को शांति मिले और आपको एंजायटी कम महसूस हो।
-कोरोना से रिकवरी करने में आपको 2-3 हफ्ते तक का समय लग सकता है। इसलिए अच्छे से खाएं और अच्छे से सोएं। 

क्या करने से बचें-
डॉ. फहीम कहते हैं कि Actemra/plasma/remdesivir जैसी दवाओं पर अभी भी एक्सपेरिमेंट किए जा रहे हैं। इऩ पर अपना समय, पैसे खर्च न करें।

होम आइसोलेशन करते समय किन बातों का रखें ध्यान-
-होम आइसोलेशन के लिए ऐसे कमरे का चुनाव करें जहां वेंटिलेशन अच्छा रहता हो। 
-घर के सदस्यों के साथ बर्तन, बिस्तर या तौलिये जैसा कोई भी जरूर सामान साझा न करें।
-खांसते या छींकते वक्त मुंह पर रुमाल रखें।
-घर में भी मास्क पहनकर रहें। जिसे हर 6-8 घंटे में बदलना चाहिए।
-नाक या मुंह पर हाथ लगाने के बाद हाथों को अच्छे से सैनिटाइज करना बिल्कुल न भूलें।
-साबुन और पानी से हाथ को 40 सेकेंड तक धोना चाहिए। 

कैसी हो डाइट-
-कोरोना के मरीजों के लिए घर पर ताजा और सादा भोजन बना होना चाहिए। 
-कोरोना के मरीज मौसमी, नारंगी और संतरा जैसे ताजे फल और बीन्स, दाल जैसे प्रोटीन से भरपूर आहार अपनी डाइट में शामिल करें। -कोरोना के मरीजों का खाना कम कॉलेस्ट्रॉल वाले तेल में पकाना चाहिए।
-कोरोना के मरीजों को मैदा, तला हुआ भोजन या जंक फूड नहीं खाना चाहिए। 

 

यह भी पढ़ें - कोरोनावायरस से बचने के लिए जानिए क्‍यों जरूरी है बाथरूम में एग्‍जॉस्‍ट फैन का होना

 

Disclaimer- इस आलेख में दी गई जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी लाइव हिन्दुस्तान डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

संबंधित खबरें