DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   लाइफस्टाइल  ›  कोरोना सर्वाइवर ने बताया घर पर कैसे जीती वायरस से जंग, ऐसे लेटने से फेफड़ों को मिलेगी ऑक्सीजन

जीवन शैलीकोरोना सर्वाइवर ने बताया घर पर कैसे जीती वायरस से जंग, ऐसे लेटने से फेफड़ों को मिलेगी ऑक्सीजन

टीम लाइव हिंदुस्तान,नई दिल्लीPublished By: Kajal Sharma
Tue, 20 Apr 2021 03:26 PM
कोरोना सर्वाइवर ने बताया घर पर कैसे जीती वायरस से जंग, ऐसे लेटने से फेफड़ों को मिलेगी ऑक्सीजन

कोरोना वायरस अब तक कई लोगों की जिंदगियां छीन चुका है। तेजी से फैल रहे इस वायरस का मुकाबला करने के लिए हमारा जागरूक होना बहुत जरूरी है। उससे भी जरूरी है पॉजिटिव रहना। संक्रमित होने वाले लोगों में ऐसे लोगों की संख्या ज्यादा है जिन्होंने घर पर रहकर ही कोरोना को हराया है। यहां एक ऐसे ही सर्वाइवर की कहानी है। 


कोविड में दिखे ये लक्षण

alwaysstartswith इंस्टाग्राम पेज पर एक कोविड सर्वाइवर की स्टोरी है शेयर की गई है। इसे किसी कोविड सर्वाइवर ग्रुप से लिया गया है और पोस्ट जनवरी 2021 का है। इसमें बताया गया है, घर पर कोरोना से कैसे लड़ें, लिखा है... कोई इस पर बात नहीं करता कि कोविड से घर पर कैसे लड़ा जाए। मुझे नवंबर में कोविड हुआ था। मैं हॉस्पिटल गई। 103 बुखार था, दिल की धड़कन तेज थी और कोविड के कॉमन लक्षण थे। जब मैं वहां थी, मेरा तेज बुखार, डिहाइड्रेशन और न्यूमोनिया का इलाज किया गया। डॉक्टर ने मुझे Azithromycin 250mg और Dexamethasos 6mg के साथ घर कोविड से लड़ने के लिए भेज दिया। 


पीठ के बल लेटने से किया मना


नर्स ने कहा, हमेशा पेट के बल सोना। अगर किसी वजह से हेल्थ की वजह से नहीं सो पाती हो तो करवट लेकर लेटो। कुछ भी हो जाए पीठ के बल मत लेटना क्योंकि इससे फेफड़ों को दिक्कत होती है। ऐसा करने से फ्लूड जमा होगा। पेट के बल लेटने पर 2-2 घंटे का अलार्म लगाओ और बिस्तर से उठकर 15-30 मिनट टहलो, कितनी भी थकान लगे। अपने हाथ घुमाती रहो इससे फेफड़े खुलेंगे। नाक से सांस लेकर मुंह से छोड़ो। इससे फेफड़ों से न्यूमोनिया या कोई और फ्लूड जमा नहीं होगा। 

 

 


फिजिकल ऐक्टिविटी और खाना

जब रिक्लाइनर कुर्सी पर बैठो तो सीधे बैठो, टेक लगाकर नहीं...इससे फेफड़ों को नुकसान पहुंचता है। टीवी देखते वक्त कॉमर्शल ब्रेक के दौरान उठकर टहलो। रोज 1-2 अंडे, केले, ऐवोकाडो और एस्परैगस (शतावरी) खाओ। इनसे पोटैशियम मिलता है। पानी के साथ इलेक्ट्रोलाइट्स घोलकर पियो ताकि डिहाइड्रेशन ना हो।


ठंडे को ना और लें विटामिन्स


कुछ भी ठंडा मत पिओ- ड्रिंक कमरे के तापमान पर हो या फिर गरम करके। नींबू पानी में थोड़ा शहद मिलाकर पियो। पेपरमिंट टी, एप्पल साइडर विनेगर पीने से फायदा मिलेगा। मिल्क प्रोडक्ट्स कतई ना लो। विटामिन डी3, सी, बी, जिंक और एक प्रोबायोटिक लेने से फायदा होगा।

 

ये भी देखें: कहीं मास्क के इस्तेमाल में आप तो नहीं कर रहे ये बड़ी गलती? बढ़ सकता है कोरोना का खतरा


डॉक्टर की सलाह पर लें दवाएं

बुखार के लिए Tylenol। Mucinex या Mucinex DM ड्रेनेज के लिए ये खांसी में भी फायदा करती है। पैरों में दर्द हो तो  Pepcid। ब्लड क्लॉट ना हो इसके लिए 1 एस्पिरिन। ब्लूबेरी, स्ट्रबेरी, केले, शहद, चाय और 1 या दो चम्मच पीनट-बटर की स्मूदी। 


प्रोन पोजिशन है 'इमरजेंसी वेंटिलेटर'


कोरोना सांस से जुड़ी बीमारी है। वायरस मरीज के फेफड़ों को डैमेज करता है। ऐसे में मरीज को वेंटिलेटर और ऑक्सीजन की जरूरत पड़ती है। मरीज को सांस लेने में तकलीफ हो तो घर पर इस पोजिशन से आराम मिल सकता है। देखें वीडियो...

 

 

 

नोट: यहां दी गई जानकारी सिर्फ आपको जागरूक करने के लिए है। यहां बताई गई किसी भी दवा का इस्तेमाल डॉक्टर की सलाह के बिना ना करें। उम्र, बीमारी की गंभीरता और मेडिकल हिस्ट्री को देखते हुए डॉक्टर से पूछकर दवा लें। कोरोना का इलाज नहीं मिल पाया है इसलिए बचाव जरूरी है। हल्के लक्षण दिखें तो टेस्ट करवाएं और तुरंत डॉक्टर से सलाह लें। 

यह भी पढ़ें - योद्धा आपदाओं का इंतजार नहीं करते, ये है एचआईवी पीड़ितों को जीना सिखा रही निवेदिता झा की कहानी

 

 

संबंधित खबरें