DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   लाइफस्टाइल  ›  ब्‍लड शुगर घटाने से लेकर इम्‍युनिटी बढ़ाने तक यहां हैं बरगद के फल के 6 स्‍वास्‍थ्‍य लाभ

लाइफस्टाइलब्‍लड शुगर घटाने से लेकर इम्‍युनिटी बढ़ाने तक यहां हैं बरगद के फल के 6 स्‍वास्‍थ्‍य लाभ

टीम हेल्‍थ शॉट्स ,नई दिल्‍ली Published By: Yogita Yadav
Thu, 10 Jun 2021 09:39 PM
ब्‍लड शुगर घटाने से लेकर इम्‍युनिटी बढ़ाने तक यहां हैं बरगद के फल के 6 स्‍वास्‍थ्‍य लाभ

 

उत्‍तर भारत के कई राज्‍यों में वट वृक्ष यानी बरगद के पेड़ की पूजा की जाती है। पर क्‍या आप जानती हैं कि इस पेड़ में कई औषधीय तत्‍व भी होते हैं। बरगद के पेड़ के फल में प्राकृतिक खनिज होते हैं। जो उच्च रक्तचाप को कम करने और कोरोनरी हृदय रोग को रोकने के लिए बहुत उपयोगी होता है। आइए जानते हैं क्‍या है इसके मिठास भरे फल के स्‍वास्‍थ्‍य लाभ।

बरगद के पेड़ का फल फिकस कैरिका प्रजाति का है। यह 3-5 सेंटीमीटर लंबा फल है जिसमें कई छोटे गूदे होते हैं। सिर्फ यही नहीं इस पेड़ में मौजूद फूल से लेकर फल तक और जड़ से लेकर पत्तियों तक इन सब में पौष्टिक तत्व होता है।

कैलिफ़ोर्निया फिग एडवाइजरी बोर्ड के अनुसार, बरगद के फल के प्रत्येक 100 ग्राम में ढेर सारा पोषण होता है -

 

banyan-fruits-health-benefit

 

 

बरगद के फल में मौजूद पोषण:

ऊर्जा 259 कैलोरी
कार्बोहाइड्रेट 63.87 ग्राम
चीनी 47.92 ग्राम
आहार फाइबर 9.8 ग्राम
वसा 0.93 ग्राम
प्रोटीन 3.30 ग्राम30
थायमिन (विटामिन बी1) 0.085 मिलीग्राम
नियासिन (विटामिन बी3) 0.619 मिलीग्राम

जबकि इसकी पत्तियों में भी प्रोटीन 9.63 %, फाइबर 26.84%, कैल्शियम 2.53% और फास्फोरस 0.4% पाया जाता है। बरगद के पेड की जड़, पत्तियां, दूध और फल का सेवन करने से आपके समग्र स्‍वास्‍थ्‍य को लाभ पहुंचता है।

 

यहां हैं बरगद के फल के 6 स्‍वास्‍थ्‍य लाभ

 

1.हार्ट अटैक से बचाता है

हार्ट अटैक दुनिया की नंबर एक जानलेवा बीमारी है। वसा के अलावा जो धमनी को बंद कर देता है, हृदय रोग जैसे कोरोनरी हृदय रोग मानव के उच्च सोडियम स्तर के कारण हो सकता है। उच्च सोडियम स्तर धमनी को संकुचित करता है और पूरे शरीर में रक्त के वितरण को धीमा कर देता है।

 

sunflower oil benefits for heart health

 

बरगद के पेड़ के फल के पोषण मूल्य के बारे में शोध के आधार पर, यह पाया गया है कि बरगद के फल में उच्च मात्रा में पोटेशियम होता है, जो शरीर के सोडियम स्तर को कम करने के लिए अच्छा होता है।

इसमें मैग्नीशियम, फॉस्फोरस, ओमेगा 3 और 6 जैसे प्राकृतिक खनिज भी होते हैं, और पॉलीफेनॉल जो रक्तचाप को कम करने और कोरोनरी हृदय रोग को रोकने के लिए उपयोगी होता है। विशेषज्ञों का कहना है कि दिन में कम से कम एक बार बरगद के पेड़ के फल का सेवन करने से अचानक दिल का दौरा पड़ने का खतरा कम हो जाएगा।

 

2. इम्यूनिटी बूस्ट करें

स्वस्थ जीवन के लिए मजबूत प्रतिरक्षा अत्यंत आवश्यक है। इम्युनिटी आपको बीमारियों से लड़ने में मदद करती है और आपको उनसे बचाती है। एनसीबीआई के अनुसार इसकी पत्तियों में कुछ खास तत्व जैसे :- हेक्सेन, ब्यूटेनॉल, क्लोरोफॉर्म और पानी मौजूद होता है। ये सभी तत्व संयुक्त रूप से प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में सहायक साबित होते हैं। बरगद के पेड़ की छाल एक अच्छा प्रतिरक्षा बढ़ाने वाला एजेंट है।

 

3. दस्त और पेचिश

बरगद के पत्ते की कलियां पुराने दस्त और पेचिश के इलाज में फायदेमंद होती हैं। इन रोगों के उपचार में कलियों को रात भर पानी में भिगोकर जलसेक के रूप में लेना चाहिए। लेटेक्स दस्त और पेचिश के उपचार में भी उपयोगी है।

 

यह भी पढ़ें - गर्मियों में जरूरी है हर रोज दही का सेवन करना, हम बता रहे हैं इसे 5 कारण

 

4. वजन कम करने में सहायक

बरगद के पेड़ का फल जादुई रूप से वजन बढ़ाने और घटाने दोनों में सक्षम है। वजन बढ़ाने के लिए हम सोने से ठीक पहले बरगद के पेड़ के फलों के रस का नियमित रूप से दूध के साथ सेवन कर सकते हैं। बरगद के फल में निहित आहार फाइबर हमारे शरीर में वसा की मात्रा को जोड़े बिना वजन बढ़ाने और एक चुस्‍त शरीर देने में सक्षम है। वहीं वजन कम करने के लिए हम बरगद के पेड़ के फलों का जूस बिना दूध और चीनी के पी सकते हैं। नियमित व्यायाम के साथ ही यह उपचार प्रभावी होगा।

 

depression
 
 
5.डिप्रेशन को कम करता है

डिप्रेशन की समस्या में भी बरगद के पेड़ को लाभकारी माना गया है। दरअसल, एनसीबीआई के छपे लेख के अनुसार बरगद पर किए गए एक शोध में इस बात का जिक्र मिलता है कि बरगद के संपूर्ण पेड़ में कुछ ऐसे तत्व मौजूद होते हैं, जो मानसिक क्षमता को बढ़ाने के साथ चिंता और तनाव की समस्या को दूर करने में सक्षम हैं। वहीं, यह दिमाग की नसों को भी आराम पहुंचाते हैं।

 

यह भी पढ़ें - सोशल मीडिया पर ट्रेंडिंग है बरगद का दूध, हम बता रहे हैं इसके औषधीय लाभ

 

6. रक्त शर्करा को नियंत्रित करता है

बरगद के पेड़ का फल अपनी मिठास के लिए जाना जाता है और डॉक्टर मधुमेह रोगियों के लिए कुछ मीठा खाने की सलाह नहीं दे सकते हैं। हालांकि, बरगद के पेड़ का फल मीठा होता है, लेकिन इसमें मौजूद फ्रुक्टोज और ग्लूकोज आपके ब्लड शुगर को नहीं बढ़ाएंगे।
फ्रुक्टोज और ग्लूकोज के अलावा, बरगद के पेड़ के फल में असंतृप्त फाइबर और कार्बोहाइड्रेट भी होते हैं, जो आपके पाचन तंत्र पर अतिरिक्त चीनी अवशोषण की प्रक्रिया को धीमा कर देंगे। इसके अतिरिक्त, पोटेशियम हमारे भोजन के बाद अवशोषित चीनी की मात्रा को नियंत्रित करने में मदद करेगा।

इसे भी पढ़े :Pelvic floor : हर स्‍त्री को जानना चाहिए अपने शरीर के इस महत्‍वपूर्ण हिस्‍से के बारे में

 

 

संबंधित खबरें