फोटो गैलरी

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ लाइफस्टाइलHappy Daughters' Day : बचपन में हर बेटी के सुपरहीरो होते हैं पापा, लेकिन पिता की इन आदतों के कारण मजबूत नहीं हो पाता रिश्ता

Happy Daughters' Day : बचपन में हर बेटी के सुपरहीरो होते हैं पापा, लेकिन पिता की इन आदतों के कारण मजबूत नहीं हो पाता रिश्ता

हैप्पी डॉटर्स डे 2022 : ऐसा नहीं है कि पिता जान-बूझकर गुस्सैल या अकडू स्वभाव दिखाते हैं बल्कि कहीं न कहीं हमारी कंडीशनिंग ही इस तरह से की जाती है कि पिता के लिए भी एक ढांचा तैयार कर दिया जाता है।

Happy Daughters' Day : बचपन में हर बेटी के सुपरहीरो होते हैं पापा, लेकिन पिता की इन आदतों के कारण मजबूत नहीं हो पाता रिश्ता
Pratima Jaiswalलाइव हिन्दुस्तान टीम,नई दिल्लीSun, 25 Sep 2022 01:49 PM
ऐप पर पढ़ें

Happy Daughters' Day : बेटी और पिता का रिश्ता बहुत ही प्यारा होता है। एक पिता के लिए बेटी किसी राजकुमारी से कम नहीं होती। वहीं, हर बेटी अपने पिता को बचपन में सुपरहीरो की तरह देखती हैं, जो कुछ भी कर सकते हैं। प्यार और जिम्मेदारी के अलावा भी जीवन के कई उतार-चढ़ाव के बीच चाहें पिता और बेटी में कितने भी मतभेद हो, लेकिन दोनों का प्यार एक-दूसरे के लिए कम नहीं होता। बात करें ज्यादातर पिताओं की, तो कुछ ऐसी भी बातें होती हैं जो किसी भी बेटी को पसंद नहीं होती। ऐसा नहीं है कि पिता जान-बूझकर गुस्सैल या अकडू स्वभाव दिखाते हैं बल्कि कहीं न कहीं हमारी कंडीशनिंग ही इस तरह से की जाती है कि पिता के लिए भी एक ढांचा तैयार कर दिया जाता है, जिससे हिसाब से उन्हें बिहेव करने के लिए कहा जाता है। जिम्मेदारी का दबाव के चलते कभी-कभी पिता अपने स्वभाव से अलग बर्ताव कर जाते हैं। ऐसे में बहुत जरूरी है कि किसी बने-बनाए नियमों को मानने की बजाय बेटियों की उम्मीदों पर खरा उतरा जाए। एक पिता होने के नाते आपको कुछ चीजें जरूर सुधारनी चाहिए। इससे पिता और बेटी की बॉन्डिंग भी मजबूत होगी और आपकी रिस्पेक्ट भी बढ़ेगी। 


हर वक्त गुस्सा करना 
हर वक्त गुस्सा करने से न सिर्फ आपकी मेंटल और फिजिकल हेल्थ खराब होती है बल्कि आपका गुस्सैल स्वभाव बेटी को पसंद नहीं आता। बचपन में अगर बेटियां अपने पिता को हमेशा गुस्सा करते हुए देखती हैं, तो कहीं न कहीं उनके मन में भी गुस्सा भर जाता है। बचपन में उन्हें इस गुस्से से डर लगता है और बड़े होकर निराशा होती है। 

 

मां की रिस्पेक्ट न करना 
पिता चाहें बेटी को कितना ही लाड़-प्यार करें लेकिन अगर वे हमेशा अपनी पत्नी और बच्चों की मां के साथ बुरा व्यवहार करते हैं या उनकी इज्जत नहीं करते, तो इससे बेटियों को बेहद निराशा होती है। पिता को प्यार करने के साथ बेटियां मां को भी उतना ही प्यार करती हैं इसलिए कभी भी बच्चों की मां के साथ बुरा बर्ताव न करें। 

 

शराब पीकर क्लेश करना 
दुनिया का कोई भी बच्चा अपने पिता की इस आदत को पसंद नहीं करेगा। शराब पीने की आदत न सिर्फ आपकी हेल्थ को खराब करती है बल्कि इससे बेटियों के मन में आपके लिए प्यार और इज्जत भी कम होती है। हो सकता है कि आपके लड़ाई-झगड़ा से बेटियां डरकर कुछ न कहती हों लेकिन इस डर वाली चुप्पी को अपनी इज्जत न समझें। बेहतर होगा कि अपने परिवार के लिए इस आदत को छोड़ दें। 


आगे बढ़ने से रोकना 
आज के समय में बेटी और बेटे में कोई फर्क नहीं रह गया है। हां, बेटियों की सुरक्षा पर थोड़ा ज्यादा ध्यान देना होता है लेकिन इस सेफ्टी इश्यू को उन्हें घर बैठाने का बहाना न बनाएं। उन्हें पढ़ने-लिखने और कॅरियर बनाने से न रोकें। बेटियों को सपने देखने और उन्हें हकीकत में बदलने से न रोकें। हमेशा रोक-टोक करने से उनका कॉन्फिडेंस कम हो जाएगा। 

 

बेटी-बेटे में भेदभाव 
बेटियों की तुलना कभी भी बेटों से न करें। दोनों ही आपके बच्चे हैं। ऐसे में आपको दोनों को एक समान परवरिश देने के अलावा उनकी जरूरतों को पूरा करना चाहिए। बेटियों से भेदभाव करने पर उनके मन में असुरक्षा जन्म ले सकती है जिससे वे कभी भी अपनी सम्भावनाओं को पूरा नहीं कर पाएंगी। 


बेटियों की बात न सुनना 
आपको किसी भी नतीजे पर पहुंचने से पहले बेटियों की बातों, सपनों और उनके विचारों को सुनना चाहिए। बेटियों के लिए हमेशा सपोर्टिव पिता बनें, जिससे कि वे बिना किसी झिझक के अपनी सारी बातें आपसे शेयर कर सकें। बेटियों की बातें सुनेंगे, तो वे खुलकर अपनी प्रॉब्लम्स भी आपसे शेयर करेंगी। 

 

गोल रोटी का चक्कर छोड़कर हर लड़की को इन 6 चीजों को सीखने पर करना चाहिए फोकस

 

epaper