DA Image
22 नवंबर, 2020|8:11|IST

अगली स्टोरी

Covid-19:एस्ट्राजेनेका का 'एंटीबॉडी कॉकटेल' कोरोना से सालभर बचाएगा

astrazeneca vaccine

ब्रिटिश दवा कंपनी एस्ट्राजेनेका ने कोरोना संक्रमण से लोगों को बचाने के लिए एक नए तरह के 'एंटीबॉडी कॉकटेल' थेरेपी को इजाद किया है। कंपनी ने दावा किया कि यह 'एंटीबॉडी कॉकटेल' लोगों की सालभर तक कोरोना संक्रमण से रक्षा करेगा। कंपनी जल्द ही इसके तीसरे चारण का क्लीनिकल परीक्षण करेगी। इसे एजेडडी 7442 नाम दिया गया है, और इसके दो चारण के परीक्षण पूरे हो चुके हैं। 

बताते चलें कि यह एंटीबॉडी कॉकटेल इसी कंपनी की ओर से विकसित किए जा रहे कोरोना टीके से अलग है।   बताया जा रहा है कि दुनियाभर में 'एंटीबॉडी कॉकटेल' की पहली खुराक परीक्षण के लिए मैनचेस्टर निवासी एक युवक को दी जाएगी। मानव परीक्षण के दौरान 5000 लोगों को इसे दिया जाएगा। इसमें से एक हजार लोग ब्रिटेन के नौ राज्यों के होंगे।

खास बात यह कि ब्रिटिश सरकार ने कंपनी के साथ एक समझौते पर हस्ताक्षर किए हैं जिसके मुताबिक यदि परीक्षण सफल रहा, तो वह 10 लाख खुराक खरीदेगी। इस परीक्षण का उद्देश्य 'एंटीबॉडी कॉकटेल ' के असर और सुरक्षा का आकलन करना है। रैंडम तरीके से परीक्षण के शुरुआती परिणाम वर्ष 2021 तक प्रकाशित किए जाएंगे। परीक्षण के करीब 12 महीने तक चलने का अनुमान लगाया गया है। 

इन लोगों को होगा लाभ 
विशेषज्ञों के मुताबिक इस एंटीबॉडी से उन लोगों के इलाज में मदद मिलेगी जिनके शरीर का प्रतिरक्षा तंत्र ठीक से काम नहीं करता या जिनको टीका नहीं लगाया जा सकता।  एस्ट्राजेनेका के अनुसंधान विकास विभाग के अध्यक्ष सर मेने पैंगलोस ने कहा-ऐसे लोगों की संख्या काफी अधिक होगी जिनके शरीर में वैक्सीन के प्रति कोई प्रतिक्रिया नहीं देखने को मिलेगी या जो लोग टीका नहीं लगवाना चाहेंगे। 

तत्काल जरूरत में उपयोगी:
ब्रिटेन में वैक्सीन टास्कफोर्स की प्रमुख केट बिंघम ने कहा कि बोन मैरो ट्रांसप्लांट या अन्य बीमारी से पीड़ित उन लोगों के लिए एंटीबॉडी कॉकटेल उपयोगी है जिनकी प्रतिरोधक क्षमता कमजोर हो गई है। इसके अलावा वैक्सीन अपना असर दिखाने के लिए करीब छह महीने का समय लेती है, जबकि कुछ लोगों को तत्काल बचाने की जरूरत होती है। इन लोगों के लिए भी यह लाभदायक है।  

क्या है 'एंटीबॉडी कॉकटेल' :
'एंटीबॉडी कॉकटेल' को दो तरह के मोनोक्लोनल एंटीबॉडी को मिलाकर तैयार किया गया है। ये दोनों एंटीबॉडी मानव निर्मित हैं और मनुष्य के प्रतिरक्षा तंत्र में पाए जाने वाले प्राकृतिक एंटीबॉडी की तरह काम करती हैं। इन्हें आपस में मिलाने से पहले लाइफ-एक्सटेंशन तकनीक के जरिये इनमें जरूरी बदलाव किए गए ताकि वे लंबे समय तक प्रभावी रह सकें। जब एक साथ दो एंटीबॉडी शरीर में मौजूद कोरोना वायरस से चिपकर उस पर हमला करती हैं, तो कोरोना वायरस खत्म होने लगता है। 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Good news amid corona epidemic AstraZeneca Antibody Cocktail Will Save through out the year From Coronavirus infection