DA Image
30 अक्तूबर, 2020|9:56|IST

अगली स्टोरी

चेहरे को निखारने के साथ पिम्पल को दूर करती है ग्लिसरीन, ऑयली स्किन वाले ऐसे करें इस्तेमाल

glycerin

फिल्म व टीवी में रोने की एक्टिंग करने के लिए आंसू के तौर पर इस्तेमाल किए जाने वाले ग्लिसरीन की भूमिका सिर्फ यहीं तक सीमित नहीं है। ग्लिसरीन के पास आपकी त्वचा से जुड़ी समस्याओं का भी हल छिपा हुआ है। ग्लिसरीन एक ऐसा यौगिक पदार्थ है जिसे प्राकृतिक उत्पादों जैसे वनस्पति तेल आदि से बनाया जाता है। भौतिक रूप से यह एक मीठा व पारदर्शी तरल पदार्थ है। खूबसूरती निखारने और त्वचा से जुड़ी कई समस्याओं को दूर करने में ग्लिसरीन उपयोगी होता है।

 

रूखी त्वचा से छुट्टी
ग्लिसरीन रूखी, तैलीय व सामान्य तीनों प्रकार की त्वचा पर इस्तेमााल की जा सकती है। यदि आपकी त्वचा रूखी व बेजान है, तो ग्लिसरीन आपके लिए बेहद उपयोगी है। यह शुष्क और बेजान त्वचा को सुंदर और कोमल बनाने का सबसे अच्छा और सस्ता माध्यम है। नियमित रूप से ग्लिसरीन को त्वचा पर लगाने से त्वचा की रंगत में निखार आता है और त्वचा के रोगों से भी छुटकारा मिलता है। नीबू का रस, गुलाब जल और ग्लिसरीन को बराबर मात्रा में मिलाकर इस मिश्रण से पूरे चेहरे की मालिश करें। इसे रात भर चेहरे पर लगा रहने दें और सुबह गुनगुने पानी से चेहरे को साफ कर लें। नियमित प्रयोग से त्वचा बेहद मुलायम व चमकदार हो जाएगी।

ग्लिसरीन से बनाइए मॉइस्चराइजर
ग्लिसरीन एक प्राकृतिक मॉइस्चराजर है, जो त्वचा के सूखेपन को रोकने के लिए प्रयोग किया जाता है। दरअसल, ग्लिसरीन त्वचा में नमी और पानी के स्तर को बनाए रखने में मदद करता है। ग्लिसरीन का मॉइस्चराइजर बनाने के लिए एक बोतल में गुलाब जल व ग्लिसरीन भरकर रखें और इसे अपने पूरे शरीर पर बॉडी लोशन की तरह लगाएं। 

मुहांसों का उपचार
तैलीय त्वचा वालों को मुहांसे होना एक आम समस्या है। स्थायी रूप से इस समस्या का समाधान तलाशने में  कॉस्मेटिक उत्पादों की बजाय प्राकृतिक उपचार ही कारगर साबित होते हैं। एंटी-बैक्टीरियल गुणों के साथ ग्लिसरीन न केवल त्वचा को साफ करता है, बल्कि मुंहासे का इलाज भी करता है। इसके लिए नीबू का रस, ग्लिसरीन और गुलाब जल को मिलाकर नियमित रूप से चेहरे पर लगाएं। मुहांसों की समस्या जड़ से खत्म होगी।

                         
टोनर के रूप में ग्लिसरीन 
बाजार में मिलने वाले टोनर काफी महंगे होते हैं और दूसरी समस्या यह कि हर टोनर आपकी त्वचा को सूट नहीं करता। इसलिए बाजार में उपलब्ध कृत्रिम टोनर की तुलना में प्राकृतिक ग्लिसरीन का टोनर के रूप में इस्तेमाल सभी तरह की त्वचा पर सूट भी करता है और असर भी। ग्लिसरीन का टोनर बनाने के लिए ग्लिसरीन के साथ सेब के सिरके को मिलाएं और अपने पूरी तरह से साफ चेहरे पर इस मिश्रण को टोनर के रूप में लगायें। इसे अपने चेहरे पर लगा रहने दें। इसे हटाने या पानी से धोने की कोई जरूरत नहीं। 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:glycerin is like medicine for all skin know its benefits and use