फोटो गैलरी

Hindi News लाइफस्टाइलकैटी प्राइज के नए कारनामे से लेकर हाई-वेस्ट बेल बॉटम के क्रेज तक, ये हैं सोशल मीडिया पर वायरल खबरें

कैटी प्राइज के नए कारनामे से लेकर हाई-वेस्ट बेल बॉटम के क्रेज तक, ये हैं सोशल मीडिया पर वायरल खबरें

हमारी दुनिया में हम से जुड़ी क्या खबरें हैं? हमारे लिए उपयोगी कौन-सी खबर है? किसने अपनी उपलब्धि से हमारा सिर गर्व से ऊंचा उठा दिया? ऐसी तमाम जानकारियां हर सप्ताह आपसे यहां साझा करेंगी, जयंती रंगनाथन

कैटी प्राइज के नए कारनामे से लेकर हाई-वेस्ट बेल बॉटम के क्रेज तक, ये हैं सोशल मीडिया पर वायरल खबरें
Manju Mamgainहिन्दुस्तान,नई दिल्लीFri, 23 Feb 2024 02:34 PM
ऐप पर पढ़ें

इस सप्ताह इस स्तंभ के लिए खबरें तलाश करते हुए मैंने पाया कि महिलाओं से जुड़ी खबरों की संख्या नाममात्र होती हैं। उस पर भी स्त्रियों की उपलब्धियों पर और भी कम बातें होती हैं। यह अच्छी बात है कि अपराध, स्कैम और दूसरी नकारात्मक खबरों में आज भी स्त्रियों की संख्या कम ही होती है, लगभग 11 प्रतिशत। लेकिन अगर दस साल पहले से तुलना करें तो महिला अपराधियों की संख्या में 32 प्रतिशत का इजाफा हुआ है।

इंटरनेशनल जर्नल ऑफ क्रिमिनल जस्टिस साइंसेज में प्रकाशित अध्ययन के अनुसार महिलाओं को अपराध की तरफ उन्मुख करने में पितृसत्तात्मक समाज का बहुत बड़ा हाथ रहा है। सालों से महिलाएं सामाजिक अन्याय सहती आई हैं। अब अन्याय सहने वाली कुछ महिलाओं को लग रहा है कि जब तक वे खुद सत्ता और शक्ति नहीं बनेंगी, उनके साथ न्याय नहीं होगा। यही नहीं, आधुनिक जीवनशैली की वजह से भी कई युवतियां अपराध से जुड़ रही हैं, जहां उन्हें लगता है कि अपराध से आसानी से कमाई होती है। लेकिन अध्ययनों की मानें तो चोरी-चकारी जैसे अपराधों में लिप्त 85 प्रतिशत युवा बहुत जल्द पकड़े जाते हैं और उनकी जिंदगी या तो जेल में गुजरती है या सुधार गृहों में। ऐसे अपराधों में लिप्त युवतियों का हाल और भी खराब होता है, जब उन्हें अपने ही साथियों के हाथों यौन हिंसा का भी शिकार होना पड़ता है।

महिलाओं के साथ होने वाले अपराधों में भी पिछले कुछ सालों में वृद्धि दिख रही है। इन सबसे बचने के लिए जरूरी है कि आप अपनी सुरक्षा करना सीख जाएं। सुरक्षा कवच बनाने में वैसे तो परिवार की सबसे बड़ी और अहम भूमिका रहती है। पर, आप अपने दोस्तों, परिचितों को भी इसमें शामिल कर सकती हैं। आपको यह विश्वास दिलाना होगा कि आप किसी अन्याय को नहीं सहेंगी और किसी भी महिला के साथ कोई अन्याय नहीं करेंगी। सिस्टरहुड की भावना के चलते ही हम महिलाएं आने वाले दिनों में सशक्त और सुरक्षित हो पाएंगी।

सखी मंडल का हिस्सा बनें
इस समय झारखंड में 55 हजार सखी मंडल हैं, जहां महिलाओं को सशक्त बनाने का काम पुरजोर तरीके से हो रहा है। हाल में झारखंड के मुख्यमंत्री चंपई सोरेन ने कहा कि पिछले चार सालों में महिलाओं के सशक्तिकरण और उनको एक अच्छी जिंदगी देने के लिए 8247 करोड़ खर्च किए जा चुके हैं। अगर आप भी झारखंड में रहती हैं और अपना व्यवसाय करना चाहती हैं या कोई और काम, अपने निकट के सखी मंडल में संपर्क कर सकती हैं।

हैंडबॉल में भविष्य बनाने का मौका
खेल प्रेमी लड़कियों के लिए एक अच्छी खबर है। अगर आप हैंडबॉल के खेल में रुचि रखती हैं तो पावना स्पोट्रर्स वेंचर हमारे देश में वुमन हैंडबॉल लीग ले कर आए हैं। यह कंपनी भारत के गांव-गांव जाकर इच्छुक लड़कियों को इस लीग में भाग लेने का मौका देगी। जो लड़कियां खेल का अपना करियर बनाना चाहती हैं, उनके लिए अच्छा मौका है।

बेल बॉटम की वापसी
सत्तर और अस्सी के दशक में युवतियों की पसंदीदा पोशाक बेल बॉटम की धमाकेदार वापसी हुई है। हाई-वेस्ट बेल बॉटम का क्रेज इस साल पूरी दुनिया में बना रहेगा। ये पैंट एक वक्त में खूब पहने जाते थे। इसके साथ शॉर्ट या नॉटेट टॉप का फैशन था। अबकि बार बॉटम में जेबों का भी प्रावधान रखा गया है। यह पोशाक फैशनेबल तो दिखता ही है, पहनने में सुविधाजनक भी है। फैशन डिजाइनर कार्लो कैसिनी कहते हैं, ‘गर्मियों में पहनने के लिए यह एक बेहतरीन परिधान है। मेरा मानना है कि आने वाले कुछ सालों तक बेल बॉटम का फैशन बहुत ज्यादा धूम मचाएगा।

कैटी प्राइज का नया कारनामा
सुपर मॉडल कैटी प्राइज फिर से खबरों में है। इस महिला को वैसे भी अजीबोगरीब हरकतें करने में मजा आता है। इस बार वो खबरों में हैं, अपने नए-नवेले पालतू बिल्ली की वजह से। कैटी ने सोशल मीडिया पर अपनी बारह सौ पाउंड की बिल्ली की तस्वीर डाली, तुरंत जानवरों की सुरक्षा के लिए बनी संस्था पेटा से जवाब आ गया कि हम आपको इस बिल्ली के बदले पांच हजार पाउंड देंगे, इसे हमें दे दीजिए। इसकी वजह है कि साल 2019 में खुद को दिवालिया घोषित करने के बाद उन्होंने पांच कुत्ते, एक घोड़ा और एक गिरगिट गोद लिया। पर, उनमें से एक की भी वो ठीक से परवरिश नहीं कर पाईं और सब मर गए। इसलिए इस बार जैसे ही कैटी के बिल्ली गोद लेने की खबर आई, सोशल मीडिया ने जमकर उनकी खबर ली कि उस जैसी महिला को किसी भी पालतू जानवर को रखने का हक नहीं है।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें