DA Image
15 जुलाई, 2020|11:39|IST

अगली स्टोरी

स्टाइल बना जागरूकता का जरिया, कोरोना वायरस से लड़ने की दिलचस्प पहल

coro

शर्ट हो या स्वादिष्ट डिश, नेल आर्ट हो या रत्नों से जड़ा मास्क। इन फैशनेबल चीजों के जरिये कोरोना वायरस के प्रति जागरूकता फैलाने का काम किया जा रहा है। कोरोना से देश में फैल रहे डर को भुलाकर युवा नए फैशन स्टाइल के जरिये लोगों को जागरूक करने का काम कर रहे हैं मास्क और हैंड सैनिटाइजर की बिक्री जोर-शोर से चल रही है। लोगों ने इन चीजों का इस्तेमाल शुरू कर दिया है। दुनिया इन दिनों कोरोना के कारण दहशत में है। लेकिन कोरोना के इस डर ने कुछ लोगों को प्रेरित करने का काम भी किया है। इसके समाधान को लेकर युवा जागरूकता फैलाने का काम कर रहे हैं।
इसमें सोशल मीडिया का भी एक अहम किरदार रहा है। इस पर लोगों को मास्क पहनने के लिए जागरूक करने का काम नेल आर्ट के जरिये किया जा रहा है। नाखूनों पर बने फेस मास्क की कई तस्वीरें आपको यहां मिल जाएंगी। वहीं ऑनलाइन ऐसे मास्क भी मिल रहे हैं, जिनमें रत्न जड़े हुए हैं।
इससे जुड़ी शर्ट्स भी ऑनलाइन बिक रही हैं, जबकि एक कैफे ने स्वच्छता संदेश के साथ एक डिश पेश की है। इतना ही नहीं, कोरोना का फैशन टैटू में भी देखने को मिल रहा है।
मेकअप एक्सपर्ट नैना अरोड़ा कहती हैं, ‘21 साल की एक लड़की ने मुझे कोरोना वायरस की कला से नाखून पेंट करने के लिए कहा। वह चाहती है कि शहर में इसको लेकर जो भी डर है, वह कम हो जाए और लोगों के बीच सकारात्मकता का माहौल बने।’
दिल्ली के एक कैफे में एक नई डिश आई है। द अर्बन रूम के शामीर अजमानी कहते हैं, ‘हमारी यह योजना भोजन के माध्यम से जागरूकता फैलाने की है। हमारी इस डिश का नाम है चिल्ली बीन्स बॉम्ब शेल। इस व्यंजन के साथ एक नोट मिलता है, जिसमें स्वच्छता को बनाए रखने का संदेश दिया जाता है। हमारा इरादा किसी को व्यक्तिगत नुकसान पहुंचाने या भावनाओं को नुकसान पहुंचाने का नहीं है।’
डिजाइनर दीपा सोंधी कहती हैं, ‘मैंने एक स्लोगन शर्ट डिजाइन की है, जिसमें लिखा गया है, ‘करो ना हैंडशेक, से नमस्ते’। इस बात को लोगों तकपहुंचाने
का इससे बहेतर तरीका मुझे कोई और
नहीं सूझा।’
बॉडीकेन्वस टैटू के मालिक व टैटू आर्टिस्ट विकास मालानी कहते हैं कि लोग उनके पास आकर ‘स्टॉप कोरोना वायरस’ का टैंम्पररी टैटू बनाने को कह रहे हैं। वह कहते हैं, ‘अब जब इस बीमारी को महामारी बता दिया गया है, तो ऐसे समय में लोगों ने इन चीजों के जरिये स्थिति को थोड़ा बेहतर बनाने के अपने तरीके ढूंढ़
लिए हैं।’

कुछ लोग साधारण मास्क की बजाय इस महामारी से लड़ने के लिए डिजाइनर मास्क चुनना पसंद कर रहे हैं। साधारण मास्क वैसे भी बाजारों में बहुत मुश्किल से मिल रहे हैं। सीक्विन्ड से लेकर रत्नों तक से जड़े ये मास्क फैशन एक्सेसरी का हिस्सा भी बन चुके हैं। द नेट्टी गर्ब के मालिक डिजाइनर ऋषभ चड्ढा कहते हैं, ‘रत्नों से जड़े ये मास्क मेरे सोशल मीडिया अकाउंट पर कुछ समय से थे, लेकिन कोरोना वायरस के डर के चलते उनकी मांग तेजी से बढ़ गई है।’
प्रेरणा गॉबा सिब्बल और अक्षय कौशल
दिल्ली के एक कैफे की योजना भोजन के माध्यम से जागरूकता फैलाने की है। उनकी इस डिश का नाम है चिल्ली बीन्स बॉम्ब शेल। इस व्यंजन के साथ एक नोट मिलता है, जिसमें स्वच्छता को बनाए रखने का संदेश दिया जाता है। कैफे का इरादा किसी को व्यक्तिगत नुकसान या किसी की भावनाओं को नुकसान पहुंचाने का नहीं है

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:fight against coronavirus Style the medium of awareness