DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   लाइफस्टाइल  ›  दिल्ली चिड़ियाघर को कानपुर चिड़ियाघर से एक रॉयल बंगाल बाघिन मिली

जीवन शैलीदिल्ली चिड़ियाघर को कानपुर चिड़ियाघर से एक रॉयल बंगाल बाघिन मिली

एजेंसी ,नई दिल्ली Published By: Pratima Jaiswal
Thu, 19 Nov 2020 03:50 PM
दिल्ली चिड़ियाघर को कानपुर चिड़ियाघर से एक रॉयल बंगाल बाघिन मिली

दिल्ली चिड़ियाघर को छह साल में पहली बार प्रजनन के लिए पशु आदान-प्रदान कार्यक्रम के तहत कानपुर चिड़ियाघर से एक रॉयल बंगाल बाघिन मिली है। अधिकारियों ने बृहस्पतिवार को यह जानकारी दी। बाघिन बरखा छह साल की है। वह बाघ करण के साथ जोड़ी बनाएगी, जिसकी उम्र भी छह साल के आसपास है।
चिड़ियाघर के निदेशक रमेश पांडे के अनुसार, रॉयल बंगाल टाइगर के संरक्षण प्रजनन कार्यक्रम में भाग लेने वाला चिड़ियाघर होने के बावजूद, दिल्ली चिड़ियाघर में छह साल से कोई बंगाल बाघिन नहीं थी।
केंद्रीय चिड़ियाघर प्राधिकरण के अनुसार, संरक्षण प्रजनन कार्यक्रम उन प्रजातियों का संरक्षण करने का एक प्रयास है, जिनकी संख्या कई कारणों से कम हो रही है।
दिल्ली चिड़ियाघर में एक साल पहले तक तीन रॉयल बंगाल टाइगर थे। तीन बाघों में से एक, आठ वर्षीय राम की किडनी खराब होने के कारण पिछले साल सितंबर में चिड़ियाघर में मृत्यु हो गई। उसे 2014 में मैसूर चिड़ियाघर से लाया गया था। अभी, चिड़ियाघर में दो नर रॉयल बंगाल बाघ - बिट्टू और करण हैं। इसके अलावा, सात सफेद बाघ हैं, जिनमें तीन मादा और चार नर हैं।
 

संबंधित खबरें