DA Image
5 जुलाई, 2020|3:13|IST

अगली स्टोरी

पुणे में सोशल डिस्टेंसिंग के लिए छाता का इस्तेमाल कर रहे लोग

umbrella

कोरोना महामारी के बीच केरल के अलप्पुझा के थन्नीरमुक्कोम की तर्ज पर महाराष्ट्र के पुणे जिले के एक गांव में लोग सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखने के लिए छाता का इस्तेमाल कर रहे हैं। एक अधिकारी ने बताया, पुणे-नासिक राजमार्ग पर मांचेर ग्राम पंचायत में छाता को एक-दूसरे से दूरी बनाने के औजार के रूप में इस्तेमाल किया जा रहा है। इसका परिणाम यह है कि 50 हजार की आबादी वाले गांव में अब तक संक्रमण का एक भी मामला सामने नहीं आया है।

गांव के सरपंच दत्ता गंजाले ने कहा कि लॉकडाउन के नियमों में क्रमिक ढंग से छूट देने और मुंबई से बड़ी संख्या में लोगों के इन भागों में यात्रा करने से संक्रमण का खतरा भी बढ़ गया। इसलिए यह सुनिश्चित करना अहम हो गया कि गांव इस महामारी से मुक्त रहे।

एक दूसरे से दूरी बनाने में छाता के इस्तेमाल का केरल मॉडल कारगर था, इसलिए हमने भी यहां इसे अपनाया। इसके लिए लोगों को सोशल मीडिया पर हैशटैग छाते वाली सेल्फी पोस्ट करने के लिए प्रोत्साहित किया। छाता का विचार अबतक कारगर रहा है। 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Covid-19:To prevent themselves from coronavirus pune People using umbrella for social distancing