DA Image
26 जुलाई, 2020|2:15|IST

अगली स्टोरी

आर्थिक तंगी से भी ज्यादा घातक होता है पार्टनर के साथ अलगाव, डिप्रेशन और मौत का भी बन सकता है कारण

relationship

जीवनसाथी से अलगाव शारीरिक और मानसिक सेहत पर आर्थिक तंगी या शराब की लत से ज्यादा कहर बरपाता है। अमेरिका में 13611 वयस्कों पर हुआ अध्ययन तो कुछ यही बयां करता है। शोधकर्ताओं ने प्रतिभागियों से साल 1992 से 2008 के बीच उनकी निजी और पेशेवर जिंदगी में संतुष्टि का स्तर दर्शाने वाले विभिन्न पहलुओं से जुड़े सवाल पूछे। इसके बाद 2008 से 2014 के बीच जान गंवाने वाले लोगों की मौत की वजहें खंगालीं। इस दौरान धूम्रपान का शौक वक्त से पहले मौत का प्रमुख कारण मिला। 

दूसरे स्थान पर जीवनसाथी से अलगाव रहा, फिर चाहे उसकी वजह तलाक हो या पार्टनर की मौत। शराब का सेवन, आर्थिक तंगी और बेरोजगारी असामयिक निधन की क्रमश: तीसरी, चौथी व पांचवीं बड़ी वजह मिली। अध्ययन के नतीजे ‘प्रोसीडिंग्स ऑफ द नेशनल एकेडेमी ऑफ साइंसेज’ के हालिया अंक में प्रकाशित किए गए हैं।

डिप्रेशन का बढ़ता खतरा-
-मुख्य शोधकर्ता एली पटरमैन कहती हैं, जीवनसाथी से अलगाव के बाद व्यक्ति का डिप्रेशन में जाना, सिगरेट-शराब में सुकून तलाशना और काम में मन न लगने की वजह से पेशेवर जिंदगी में मुश्किलों से गुजरना असामयिक मौत को दावत देता है।

पैसों की किल्लत से रिश्तों में दरार-
-अध्ययन में यह भी देखा गया कि आर्थिक तंगी शादीशुदा जिंदगी में दरार का सबसे बड़ा कारण है। तलाक के लिए अर्जी देने वाले हर तीन में से एक जोड़े ने पैसे की कमी को अलगाव की मुख्य वजह बताया। 20 फीसदी जोड़ों ने इसे रोजाना के झगड़े की जड़ करार दिया।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Covid-19 relationship side effects: Separation or fighting with spouse can wreak physical and mental health more than financial constraints or alcohol addiction