DA Image
12 अप्रैल, 2021|9:21|IST

अगली स्टोरी

Covid-19: कोरोना से ठीक हुए लोग वायरस के नए प्रकार से सुरक्षित

bihar corona updae  coronavirus

कोरोना संक्रमण से ठीक हो चुके लोग कम से कम छह माह या अधिक समय तक कोरोना वायरस के नए प्रकार के संक्रमण से सुरक्षित रहते हैं। यह दावा एक नए अध्ययन के आधार पर किया गया है। 

अध्ययन के अनुसार संक्रमित होने के बाद लंबे वक्त तक प्रतिरोधक क्षमता शरीर में रहती है। यह ब्रिटेन और दक्षिण अफ्रीका में मिलने वाले वायरस के नए प्रकार से भी लोगों का बचाव करती है।

'नेचर' पत्रिका में प्रकाशित शोध में कहा गया कि प्रतिरोधी कोशिकाएं एंटीबॉडीज बनाती हैं,जो बाद में विकसित होती रहती हैं। अमेरिका के रॉकफेलर विश्वविद्यालय के वैज्ञानिकों समेत अन्य विशेषज्ञों का मानना है कि यह अध्ययन अब तक का सबसे मजबूत साक्ष्य पेश करता है।

इसके मुताबिक संक्रमण से मुक्त व्यक्ति का प्रतिरक्षा तंत्र वायरस को याद रखता है और लंबे समय तक एंटीबॉडीज की गुणवत्ता में सुधार करता रहता है। जब संक्रमण से उबर चुका कोई व्यक्ति अगली बार वायरस के संपर्क में आता है, तो प्रतिरक्षा तंत्र तेजी से काम करते हुए उसे दोबारा संक्रमित होने से रोकता है।

अध्ययन में शामिल रॉकफेलर विश्वविद्यालय के माइकल सी नूसेंजवीग कहते हैं-यह वास्तव में उत्साहित करने वाली खबर है, जिस तरह की प्रतिरोधी प्रतिक्रिया हम यहां देख रहे हैं,वह कुछ वक्त के लिए प्रभावी सुरक्षा प्रदान कर सकती है।

कोरोना के खिलाफ एंटीबॉडीज रक्त के प्लाज्मा में कई हफ्तों अथवा महीनों के लिए रहती हैं। लेकिन पूर्व के अध्ययनों ने दिखाया है कि वक्त के साथ इनका स्तर काफी हद तक गिर जाता है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:covid-19: People recovering from corona protected with new type of virus