DA Image
29 अक्तूबर, 2020|12:23|IST

अगली स्टोरी

मधुमेह जैसे रोग वाले मरीजों को कोरोना से अधिक खतरा

world diabetes day 2019

वैज्ञानिकों ने एक अध्ययन में बताया है कि भारत की तरह दूसरे देशों में मधुमेह जैसे रोगों से प्रभावित लोगों में कोरोना से संक्रमित होने और मरने का खतरा ज्यादा है। ‘फ्रंटियर्स इन पब्लिक हेल्थ’ पत्रिका में प्रकाशित अध्ययन के अनुसार, मधुमेह जैसे गैर-संचारी रोगों (एनसीडी) वाले मरीजों पर कोविड-19 के प्रभाव का आकलन किया गया।

इसमें पता चला कि उनके लिए इस महामारी से ज्यादा खतरनाक समय पहले कभी नहीं रहा। उनके संक्रमित होने और इससे मृत्यु होने का अधिक खतरा है। कर्नाटक में मणिपाल एकेडमी ऑफ हायर एजुकेशन की श्रद्धा एस पारसेकर सहित अन्य अनुसंधानकर्ता इस अध्ययन में शामिल थे।

अध्ययन में कहा गया कि कोरोना के चलते आवश्यक जन स्वास्थ्य सेवाएं बाधित हुईं हैं, जिस पर एनसीडी से प्रभावित लोग अपनी स्थिति का प्रबंधन करने के लिए निर्भर रहते हैं। वैज्ञानिकों ने अध्ययन में ब्राजील, भारत, बांग्लादेश, नेपाल, पाकिस्तान और नाइजीरिया जैसे निम्न और मध्यम आय वाले देशों में एनसीडी वाले लोगों पर कोविड-19 के सहक्रियात्मक प्रभाव को लेकर लगभग 50 अध्ययनों की समीक्षा की।

अध्ययन का नेतृत्व ऑस्ट्रेलिया स्थित यूनिवर्सिटी ऑफ न्यू साउथ वेल्स के प्रमुख उदय यादव ने किया। उन्होंने कहा कि एनसीडी और कोरोना के बीच परस्पर प्रभाव का अध्ययन करना महत्वपूर्ण था, क्योंकि वैश्विक आंकड़ों से पता चला है कि कोरोना से संबंधित मौतें एनसीडी से प्रभावित लोगों में असमान रूप से अधिक थीं।

यह भी पढ़ें - मेनोपॉज के बाद डायबिटीज बढ़ा सकती है आपकी मां में ब्रेस्ट कैंसर का जोखिम

 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:covid-19: Patients with diseases like diabetes are at higher risk from coronavirus