DA Image
1 नवंबर, 2020|6:52|IST

अगली स्टोरी

Covid-19:अब 90 मिनट में हो सकेगा हाई स्पीड कोविड-19 टेस्ट, प्रयोगशाला की भी जरूरत नहीं

coronavirus data update single day spike of 75809 new cases and 1133 deaths reported in india in  la

ब्रिटेन के शोधकर्ताओं का कहना है कि उन्होंने 90 मिनट में होने वाले हाई स्पीड कोविड-19 टेस्ट की प्रक्रिया खोज निकाली है। इसके लिए प्रयोगशाला की जरूरत नहीं होगी और मोबाइल फोन से भी छोटे काट्रिज के जरिए इसे किया जा सकेगा।

यह अध्ययन एक जर्नल लांसेट माइक्रोब में प्रकाशित हुआ है। इसमें पता चला है कि ''लैब इन काट्रिज रैपिड टेस्टिंग डिवाइस'' मरीज के बेड के पास रखा जा सकता है। यह 94 फीसदी संवेदनशीलता और 100 फीसदी सटीकता के साथ कोविड-19 जांच का परिणाम देता है। साथ ही यह किसी तरह से संदेह वाला परिणाम नहीं देगा। टेस्ट के लिए मरीज की नाक से स्वैब लेकर डिवाइस में डालना होता है। इसमें सार्स-कोव-2 के जीन को ट्रेस किया जाता है, जिसके कारण कोविड-19 बीमारी होती है।

इंपीरियल कॉलेज लंदन के वैज्ञानिकों ने राष्ट्रीय स्वास्थ्य सेवा (एनएचएस) के 386 कर्मचारियों और रोगियों पर यह अध्ययन किया। यह मानक प्रयोगशाला परीक्षण की तुलना में अधिक सटीक है। शोधकर्ता ने कहा, कोई परीक्षण परिणाम जल्दी देता है पर उसके जरिए स्पष्ट परिणाम सामने नहीं आते और कोई परिणाम सटीक देता है पर प्रक्रिया में वक्त बहुत लगता है। हमारा यह परीक्षण दोनों ही पैमानों पर खरा उतरता है। वर्तमान में लंदन के आठ अस्पतालों में सफलतापूर्वक उपयोग किया जा रहा है। ब्रिटेन सरकार ने हाल ही में 5.8 मिलियन परीक्षण किट के लिए आदेश दिया है।

मौजूदा टेस्ट की पारंपरिक प्रक्रिया में 24 घंटे का समय लगता है। ऐसे में  पारंपरिक कोविड-19 परीक्षण की तुलना में हमारा यह रैपिड टेस्टिंग किट बेहतर है, जो 90 मिनट के भीतर परिणाम दे देता है। शोध टीम के अनुसार, अब एक साथ फ्लू-ए, फ्लू-बी और आरएसवी और साथ ही सीओवीआईडी ​​-19 का आकलन करने के लिए इस परीक्षण को विकसित किया जा रहा है। इस किट को यूके मेडिसिन एंड हेल्थकेयर रेगुलेटरी एजेंसी द्वारा अनुमोदित किया गया है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Covid-19: Now high speed coronavirus test can be done in 90 minutes moreover no lab is needed