DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   लाइफस्टाइल  ›  Covid-19:कोरोना काल ने लोगों को बनाया बेहद दयालु, जानें क्या कहता है यह सर्वे

जीवन शैलीCovid-19:कोरोना काल ने लोगों को बनाया बेहद दयालु, जानें क्या कहता है यह सर्वे

एजेंसी, वाशिंगटनPublished By: Manju Mamgain
Sun, 23 Aug 2020 06:50 AM
Covid-19:कोरोना काल ने लोगों को बनाया बेहद दयालु, जानें क्या कहता है यह सर्वे

कोरोना काल में आर्थिक अनिश्चतता के बाद भी लोग बढ़-चढ़कर औरों की मदद को आगे आ रहे हैं। अमेरिका में हुए एक हालिया सर्वे से यह बात सामने आई है। लैंडिंग ट्री के सर्वे में शामिल दो-तिहाई लोगों ने माना कि कोरोना संक्रमण ने उन्हें अधिक दयालु बना दिया है। 34 प्रतिशत ने चैरिटी संस्थानों को पिछले साल के मुकाबले इस वर्ष अधिक दान देने की बात कही। 

सर्वे के मुताबिक इस मुश्किल दौर में भी 56 फीसदी लोग चैरिटी को दान दे रहे हैं। 13 प्रतिशत लोगों ने स्थानीय राहत कोष में आर्थिक योगदान दिया है। वहीं, 12 फीसदी लोगों ने अपने किसी ऐसे करीबी को पैसे भेजे हैं, जिसकी नौकरी चली गई है। 23 फीसदी लोग बेबीसिटर और हाउसकीपिंग स्टाफ की तनख्वाह नहीं रोक रहे। 30 प्रतिशत उपभोक्ता उन सेवाओं का भी भुगतान कर रहे हैं, जिनका इस्तेमाल वे सामाजिक दूरी से जुड़े दिशा-निर्देशों के कारण नहीं कर पा रहे। 

दान करके खुश हैं लोग
सर्वे से पता चलता है कि कई लोगों ने वास्तव में यह सुनिश्चित करते हुए मदद करनी जारी रखी कि ऐसे मुश्किल समय में किसी के सामने कठिनाई न आए। दान करने वालों को इस बात की खुशी है कि वे उन लोगों की मदद कर पा रहे हैं, जो लॉकडाउन से प्रभावित हुए। 

छह महीने में 28 फीसदी इजाफा
जून में फिडेलिटी चैरिटेबल नाम की संस्था ने साल 2020 में 3.4 अरब डॉलर (लगभग 255 अरब रुपये) दान मिलने का खुलासा किया। यह आंकड़ा साल 2019 के पहले छह महीनों में प्राप्त राशि से 28 फीसदी ज्यादा है।

फूड बैंक की भी मदद कर रहे
इसके अलावा फूड बैंक और अन्य खाद्य सहायता कार्यक्रमों में भी अनुदान में 667 फीसदी की वृद्धि हुई है। श्वाब चैरिटी के अध्यक्ष किम लाउटन का कहना है कि पिछले छह महीने बेहद चुनौतीपूर्ण रहे हैं। मैं यह देखकर खासा प्रभावित हुआ हूं कि लोग खुद आर्थिक अनिश्चितता के दौर से गुजरने के बावजूद बढ़-चढ़कर दान कर रहे हैं।'

संबंधित खबरें