DA Image
5 जुलाई, 2020|4:27|IST

अगली स्टोरी

आंखों में खुजली और लालिमा पैदा कर सकता है हैंड सैनिटाइजर का ज्यादा इस्तेमाल, जानें वजह

hand sanitizer

कोरोना वायरस संक्रमण से बचने के लिए विशेषज्ञों ने नियमित रूप से हाथ धोने की सलाह दी है। 20 सेकंड तक साबुन या अल्कोहल बेस्ट हैंड सैनिटाइजर से हाथ साफ करने का सुझाव दिया है। कई लोगों को हैंड सैनिटाइजर से हाथ साफ करना ज्यादा आसान लगता है तो वे इसका ही ज्यादा इस्तेमाल करते हैं।

कोरोना वायरस का खात्मा करने के लिए सामान्य सैनिटाइजर की बजाए कम से कम 60 प्रतिशत अल्कोहल वाला सैनिटाइजर होना बेहद जरूरी है। लेकिन बार-बार हाथ धोने की वजह से लोगों में कुछ और दिक्कतें भी देखने को मिल रही है। बेंगलुरु के नारायण नेत्रालय के शोधकर्ताओं की एक टीम ने पाया कि अल्कोहल बेस्ड हैंड सेनिटाइजर का अत्यधिक इस्तेमाल करने से उन लोगों की संख्या बढ़ी है जो आंखों में खुजली और लालिमा की शिकायत कर रहे हैं।
 
अध्ययन के अनुसार, अल्कोहल बेस्ड हैंड रब का भारी इस्तेमाल और यह जो एरोसोल उत्पन्न करता है, वह आंख की श्लैष्मिक झिल्ली के लिए संभावित खतरा पैदा कर सकता है। इसका कारण यह है निकटता के कारण व्यक्ति की आंखों में कई तरह के रिएक्शन होने लगते हैं। इसमें सूजन के लिए एलर्जी प्रतिक्रिया भी शामिल है।
 
सैनिटाइज का प्रमुख घटक अल्कोहल है जो इसके निर्जलीकरण गुणों के लिए जाना जाता है, जो कोशिकाओं और ऊतकों में नमी को दूर करता है। इससे सूखी आंखें और सूजन हो सकती है, जो खुजली का कारण बनती है।
 
जापान में विशेषज्ञों द्वारा इसी तरह का एक अध्ययन किया गया था, जिसने हैंड सैनिटाइजर के ज्यादा इस्तेमाल पर बात की थी। अध्ययन में कहा गया था कि अल्कोहल का इस्तेमाल अक्सर हाथों को बैक्टीरिया और वायरस से मुक्त रखने के लिए किया जाता है, लेकिन यह त्वचा को तेल और पानी से भी वंचित करता है और अगर बहुत ज्यादा इस्तेमाल किया जाता है, तो यह हाथों और त्वचा में जलन पैदा कर सकता है।
 
सूखी और क्षतिग्रस्त त्वचा रोग के जीवाणुओं का एक केंद्र बन सकती है और त्वचा में कट के माध्यम से वायरस के शरीर में प्रवेश करने का खतरा भी बढ़ा सकती है।
 
डॉक्टरों ने पाया कि हर घंटे हाथ की सफाई के कारण ऐसा हो सकता है। टीम अब प्रतिदिन लाल आंखों के 7-8 मामलों में भाग लेती है। कुल मिलाकर, इसने लगभग 200 मामलों को देखा है।
 
डॉक्टरों ने देखा कि सभी मामले हाल ही के हैं और लक्षण तब दिखाई दिए जब से लॉकडाउन शुरू हुए। अधिकांश रोगी 18 वर्ष से कम आयु के हैं और एक महत्वपूर्ण बात यह है कि लगभग 40 प्रतिशत से अधिक गंभीर मामले हेल्थ वर्कर्स या उनके परिवार वाले हैं।
 
डॉ. मेधावी अग्रवाल का कहना है कि स्वच्छता अपनाना स्वास्थ्य के लिए बहुत जरूरी है, लेकिन स्वच्छता के प्रति अत्यधिक चिंतित रहना सेहत के लिए हानिकारक हो सकता है। टॉयलेट से आने के बाद साबुन और पानी से हाथ धोना या खाना खाने से पहले हाथ धोना बेहद जरूर है, लेकिन अत्यधिक हाथ धोना या हैंड सैनिटाइजर का इस्तेमाल नुकसान पहुंचा सकता है। कुछ शोधकर्ताओं का मानना है कि सैनिटाइजर का अत्यधिक इस्तेमाल करने से बच्चों में बैक्टीरिया से लड़ने की क्षमता कम हो जाती है।
 
अधिक जानकारी के लिए देखें: https://www.myupchar.com/home-remedies/how-to-make-your-own-hand-sanitizer-diy

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Covid-19: Know why Excess use of hand sanitizer can causes itching and redness in eyes