DA Image
10 अक्तूबर, 2020|10:08|IST

अगली स्टोरी

Covid-19:ऐसे पता कीजिए क्या है कोरेाना वायरस, सर्दी और फ्लू में अंतर

sneezing

कोरोना वायरस के बहुत से लक्षण साधारण सर्दी-जुकाम और फ्लू जैसे होते हैं। जहां देश में कोरोना संक्रमण लगातार बढ़ रहा है, वहीं ठंड का मौसम करीब होने से बहुत से लोग फ्लू और सर्दी की चपेट में आ रहे हैं। ऐसे में यह जानना बहुत जरूरी है कि कौन से लक्षण आपको कोरोना वायरस का संकेत देते हैं और कौन से लक्षण दिखाई देने पर ज्यादा घबराने की आवश्यकता नहीं होती। इस बारे में विश्व स्वास्थ्य संगठन के निर्देश पर ब्रिटिश स्वास्थ्य सेवा ने निर्देश जारी किए हैं। आइए जानते हैं ...।  

लक्षण                      कोरोना                    ठंड               फ्लू 
बुखार                       आम लक्षण               दुर्लभ              आम लक्षण  
थकावट                     कभी-कभी               कभी-कभी        आम लक्षण
खांसी                          सामान्य (सूखी)       सामान्य (हल्की)    सामान्य (सूखी)
स्वादहीनता                  आम लक्षण             कभी-कभी          कभी-कभी
छींक                            नहीं                   आम लक्षण              नहीं 
दर्द                              कभी-कभी             आम लक्षण               आम लक्षण  
नाक बहना/बंद होना       दुर्लभ                    आम लक्षण               कभी-कभी 
गले में सूजन                  कभी-कभी           आम लक्षण                 कभी-कभी 
डायरिया                        दुर्लभ                   नहीं                         कभी-कभी (बच्चों में)
सिरदर्द                          कभी-कभी            दुर्लभ                       आम लक्षण 
सांस में तकलीफ             कभी-कभी             नहीं                        नहीं 

कोरोना वायरस -शरीर का तापमान सौ डिग्री या इससे अधिक होना इसका सबसे आम लक्षण है। मरीज को लगातार सूखी खांसी आ सकती है और स्वाद /गंधहीनता बनी रह सकती है। वे कभी-कभी थकान, दर्द, गले में खराश, सिरदर्द और सांस लेने में तकलीफ का अनुभव कर सकते हैं। दस्त आना, जुकाम या बंद नाक जैसे दुर्भभ लक्षण भी हो सकते हैं। इस संक्रमण में लक्षण हल्के से लेकर गंभीर तक हो सकते हैं।

ठंड लगना -इसका सबसे आम लक्षण छींक, बहती या बंद नाक और गले में खराश आना है। मरीज को हल्की खांसी हो सकती है और वह कभी-कभी थकान महसूस कर सकता है लेकिन बुखार या सिरदर्द दुर्लभ लक्षण हैं। सर्दी में दस्त या डायरिया नहीं होता। ठंड लगने पर लक्षण धीरे-धीरे बढ़ते हैं।  

फ्लू संक्रमण - आमतौर पर मरीज को बुखार, थकान, सूखी खांसी, शरीर और सिर में दर्द होता है। कभी-कभी बहती या बंद नाक और गले में खराश महसूस होती है लेकिन इससे छींक आने या सांस लेने में तकलीफ जैसी परेशानी नहीं होती। फ्लू से बच्चों में कभी डायरिया हो सकता है। आमतौर पर ये लक्षण तेजी से शरीर में विकसित होते हैं। 

फ्लू और ठंड में अंतर-
डब्लूएचओ के मुताबिक, फ्लू के लक्षण ठंड लगने के लक्षणों से ज्यादा गंभीर होते हैं। ठंड से दूसरी बीमारियां नहीं होतीं जबकि फ्लू अपने साथ निमोनिया, कान का संक्रमण आदि बीमारी ले आता है। ठंड लगने पर डॉक्टर को दिखाने की आवश्यकता बहुत अधिक नहीं होती।  

सर्दी-जुकाम को वायरस समझकर अवसाद में आ रहे लोग
 अमेरिकन साइकोलॉजिकल एसोसिएशन ने अपने शोध में पाया कि बरसात के मौसम के बाद से लोगों के अंदर खास तरह की घबराहट और अवसाद देखा गया। मौसम बदलने पर शरीर में होने वाले बदलाव, सर्दी व फ्लू को वे कोरोना के लक्षण समझकर घबराने लगे। बहुत से लोगों के अंदर डॉक्टर के पास जाने को लेकर घबराहट देखी गई तो कई लोग हल्की सी परेशानी पर ही कोरोना जांच कराने पहुंचे। मनोवैज्ञानिकों ने कहा कि सर्दी में ये व्यवहार बढ़ जाएगा। 

हवा से संक्रमण फैलने की बात वापस ली 
 अमेरिकी स्वास्थ्य एजेंसी सेंटर फॉर डिसीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन ने कोरोना वायरस से जुड़े परामर्श को अपडेट किया है, जिसमें वायरस के हवा में फैलने की बात हटा ली गई है। पहले सीडीसी ने कहा था कि कोरोना वायरस वायुजनित है, अब बताया गया है कि यह एक संक्रमित व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में ड्रॉपलेट के माध्यम से फैलता है। 

स्वच्छता ही सरल व प्रभावी उपाय- 
ठंड, फ्लू से लेकर कोरोना वायरस तक के लिए हाथों की स्वच्छता और मुंह ढककर खांसने जैसे बचाव सबसे प्रभावी हैं। अगर मरीज को कोरोना जैसे लक्षण महसूस होते हैं तो वह खुद को अलग कर लें और जांच कराए। आज के दौर में फेसमास्क लगाकर और बीमार लोगों से दूर रहकर इन तीनों बीमारियों से बचा जा सकता है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Covid-19: know the difference between coronavirus cold and flu in hindi