DA Image
8 जुलाई, 2020|6:54|IST

अगली स्टोरी

Covid-19:इलेक्ट्रोक्यूटिकल कपड़ा कोरोनवायरस का कर देता है खात्मा, शोध में खुलासा

 lucknow  maulviganj  corona

इंडियाना यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं ने इलेक्ट्रोक्यूटिकल कपड़ा विकसित किया है जो संपर्क में आने पर कोरोनावायरस को नष्ट कर देता है। कोविड-19 की लड़ाई में प्रोटेक्टिव पर्सनल इक्यूपमेंट (पीपीई) ने चिकित्साकर्मियों का बचाव करने में एक अहम भूमिका निभाई है। हालांकि, इसकी बाहरी परत पर वायरस चिपक सकता है और इसे उतारने के दौरान असावधनी बरतने से फैल सकता है। 

वैज्ञानिकों ने इलेक्ट्रोक्यूटिकल कपड़े का प्रयोग करने की सलाह दी है जो कोरोनावायरस के संपर्क में आने पर इलेक्ट्रिकल फील्ड बनाकर उसे नष्ट कर देता है। इस नए शोध में कोविड-19 के खिलाफ इलेक्ट्रोस्टैटिक फोर्स के प्रभावों की जांच की गई है। 

इलेक्ट्रोक्यूटिकल कमजोर विद्युतीय क्षेत्र होते हैं जो इंसानों के लिए खतरनाक नहीं होते और कई तरह की बीमारियों को ठीक करने में इस्तेमाल किए जाते हैं। पेसमेकर इसका एक सामान्य उदाहरण है। शोधकर्ता चंदन सेन और उनकी टीम ने  बिना माइक्रोसेल बैटरी के पॉलिस्टर कपड़े और इलेक्ट्रोक्यूटिकल कपड़े पर कोरोनावायरस के प्रभावों की जांच की। 

इन दोनों कपड़ों को कोशिकाओं और कोरोनावायरस के सोल्यूशन में डाला गया। शोध में देखा गया कि इलेक्ट्रोक्यूटिकल कपड़े के संपर्क में आने के एक मिनट बाद कोरोनावायरस की इलेक्ट्रोकाइनेटिक ऊर्जा क्षीण हो गई। इस कपड़े के संपर्क में आने पर कोशिकाएं भी दोबारा स्वस्थ भी हो गई। इस शोध से संकेत मिलता है कि इलेक्ट्रोक्यूटिकल कपड़े के इस्तेमाल से कोरोनावायरस का खात्मा किया जा सकता है। 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Covid-19:Know how Electrocatalytic clothes eliminates coronavirus