DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   लाइफस्टाइल  ›  अनलॉक में घर से बाहर निकलते समय रखें इन 5 बातों का ध्यान, रहेंगे सुरक्षित

लाइफस्टाइलअनलॉक में घर से बाहर निकलते समय रखें इन 5 बातों का ध्यान, रहेंगे सुरक्षित

हिन्दुस्तान टीम,नई दिल्लीPublished By: Manju Mamgain
Thu, 10 Jun 2021 05:50 PM
अनलॉक में घर से बाहर निकलते समय रखें इन 5 बातों का ध्यान, रहेंगे सुरक्षित

देश के अधिकांश राज्यों में अनलॉक शुरू हो गया है, लोग काम पर जाने के लिए घर से बाहर निकल रहे हैं। ऐसे में बहुत जरूरी है कि आप कोरोना प्रोटोकॉल का बेहद सख्ती से पालन करें। इस बात का ध्यान रखें कि भारत में संक्रमण की तीसरी लहर आ सकती है, जिससे बचाव के लिए हमें जल्द से जल्द टीका लगवाना चाहिए और इन पांच उपायों पर गौर करें। 

1. सतह से संक्रमण का खतरा कम पर हाथ साफ रखें 
महामारी के शुरूआती दौर में सतह से संक्रमण फैलने के डर ने सबको आतंकित कर दिया था पर अब वैज्ञानिक जानते हैं कि इसकी आशंका बेहद कम है। अमेरिकी स्वास्थ्य एजेंसी ‘सेंटर फॉर डिसीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन’ ने अपने शोध में पाया कि सतह छूने से संक्रमण फैलने की संभावना दस हजार के मुकाबले एक केस में ही है। यानी आपको बाहर निकलते वक्त किसी सतह से छू जाने पर डरने की आवश्यकता नहीं है पर इस बात का जरूर ध्यान रखें कि बार-बार हाथ साफ करते रहें ताकि गंदे हाथ मुंह पर न लग जाएं। 

2. दो मास्क लगाने से सुरक्षा मिलेगी 
सामुदायिक संक्रमण की स्थिति को देखते हुए दो मास्क लगाना ज्यादा कारगर होगा, इससे ड्रॉपलेट के जरिए फैलने वाले संक्रमण से सुरक्षा मिलती है। डब्लूएचओ के मुताबिक, चेहरे और नाक पर मास्क जितना फिट बैठेगा, उतना ही वह आपको वायरस से सुरक्षित रखेगा। सर्जिकल या मेडिकल मास्क को चेहरे पर लगाते वक्त आप उनकी तनियों में गांठ बांध दें। इससे मास्क आपके चेहरे और नाक के आकार के हिसाब से पूरी तरह फिट हो जाएगा। इससे हवा लीक होकर खुली जगह से सीधे नाक या मुंह में नहीं जाएगी बल्कि सिर्फ मास्क के माध्यम से ही प्रवेश करेगी और आप सुरक्षित रहेंगे। 

3. दफ्तर में एरोसोल संक्रमण से सतर्कता 
वैज्ञानिकों को लगा है कि अब कोरोना संक्रमण ड्रॉपलेट से ज्यादा एरोसोल संक्रमण के जरिए फैल रहा है। एरोसोल का मतलब हवा में मौजूद वायरस के बहुत छोटे कणों से हैं जो ज्यादा लंबे वक्त तक वातावरण में मौजूद रह सके हैं और ज्यादा दूसरी तक सफर कर सकते हैं। ऐसे एरोसोल संक्रमण से बचने के लिए दफ्तर, फैक्ट्रियों, दुकानों और इनडोर स्टोरेंट में वेंटिलेशन की बेहतर सुविधा होनी चाहिए कि अंदर के वातावरण की अशुद्ध हवा बाहर निकलती रहे। 

4. भागदौड़ न करें, लंबी लाइन से बचे 
डब्लूएचओ का कहना है कि बहुत ही जरूरत हो तो घर ही से बाहर निकले और तय वक्त से थोड़ा पहले चले ताकि आपको भगदड़ न करना पड़े। इस तरह आपको बस स्टैंड या मेट्रो स्टेशन पर लंबी लाइन में भी नहीं लगना पड़ेगा। ध्यान रखें कि जहां भी अधिक लोग मौजूद होंगे वहां संक्रमण की सबसे ज्यादा संभावना होगी। 

5. पार्टी से बचें, घर में भी आयोजन खतरनाक
अनलॉक हो जाने से यह बिल्कुल न सोचे कि आपको कोरोना प्रोटोकॉल का पालन नहीं करना है। गैर जरूरी आयोजनों में न जाए, विनम्रता से मना कर दें। इस बात का ध्यान रखें कि भारत समेत दुनियाभर में शादियों, रैलियों व अन्य समारोह सुपर स्प्रेडर घटना बन गए थे जिसके कारण अचानक संक्रमण बहुत ज्यादा बढ़ गया। यह भी ध्यान रखें कि घर में आयोजन करके भीड़ बढ़ाना भी उतना ही खतरनाक होगा क्योंकि बंद जगहों पर एरोसोल संक्रमण का खतरा बहुत ज्यादा है।

मास्क पहनते वक्त ये सावधानियां जरूरी-
-एक साथ दो सर्जिकल या मेडिकल मास्क न लगाएं। 
-एन-95 मास्क के साथ कोई दूसरी तरह का मास्क न लगाएं। 
-मास्क पर किसी भी तरह के रसायन डिसइंफेक्टेंट का उपयोग न करें।
-गंदा मास्क या फटा हुआ मास्क का उपयोग करने से कोई सुरक्षा नहीं मिलेगी।

 

यह भी पढ़ें : सरकार ने बच्चों के लिए जारी की कोविड-19 गाइडलाइन्स, रेमडेसिविर का उपयोग प्रतिबंधित

 

संबंधित खबरें