DA Image
28 नवंबर, 2020|3:45|IST

अगली स्टोरी

कोरोना के इलाज की खोज के लिए भारतीय मूल की किशोरी ने जीते 25 हजार डॉलर

pesticides are effective in eliminating  coronavirus

दुनियाभर के वैज्ञानिक कोरोनावायरस महामारी का कारगर उपचार खोजने में जुटे हुए हैं। इस कड़ी में भारतीय मूल की एक अमेरिकी किशोरी ने भी शानदार प्रयास किया है। इतना ही नहीं किशोरी ने अनोखी खोज के लिए 25,000 अमेरिकी डॉलर का इनाम भी जीता है। 

यह खोज कोविड-19 का एक संभावित उपचार प्रदान कर सकती है। चौदह वर्षीय अनिका चेबरोलू  को यह राशि 3 एम यंग साइंटिस्ट चैलेंज में शीर्ष 10 में आने के लिए मिली है। यह अमेरिका की एक प्रमुख माध्यमिक विद्यालय विज्ञान प्रतियोगिता है। 3 एम मिनेसोटा स्थित एक अमेरिकी विनिर्माण कंपनी है। 

इन्फ्लूएंजा का इलाज खोज रही थी-
3 एम चैलेंज वेबसाइट के अनुसार पिछले साल एक गंभीर इन्फ्लूएंजा संक्रमण से जूझने के बाद चेबरोलू ने यंग साइंटिस्ट चैलेंज में हिस्सा लेने का फैसला किया। वह इन्फ्लूएंजा का इलाज खोजना चाहती थी। कोविड-19 के बाद सब बदल गया और उन्होंने सार्स-सीओवी-2 संक्रमण पर ध्यान केन्द्रित किया। उन्हें इनामी राशि के साथ ही 3 एम की विशेष मेंटरशीप भी मिली है। 

किशोरी ने जाहिर की खुशी-
अपनी इस उपलब्धि पर चेबरोलू ने कहा कि मैं अमेरिका के शीर्ष युवा वैज्ञानिकों की सूची में शामिल होकर खुश हूं। मुझे उम्मीद है कि मेरी इस खोज से लोगों की जिंदगी फिर से सामान्य पटरी पर लौट सके। चेबरोलू का ईनामी आविष्कार मुख्य मॉलिक्यूल को खोजने के लिए इन-सिलिको प्रणाली का उपयोग करता है, जो सार्स-सीओवी-2 वायरस के प्रोटीन से बंध सकता है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:covid-19: Indian origin Texas 14 year old Anika Chebrolu researching COVID 19 treatment wins 25 thousand dollars for potential treatment for coronavirus