DA Image
25 जुलाई, 2020|1:37|IST

अगली स्टोरी

Covid-19:दस-पंद्रह फीसदी आबादी हुई संक्रमित तो वायरस खो देगा ताकत, शोध में दावा

bihar corona virus updates

अब तक माना जा रहा था कि 70 फीसदी आबादी संक्रमण की चपेट में आए तो हर्ड इम्युनिटी (वायरस से प्रतिरक्षा) विकसित हो सकती है। लेकिन ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी और वर्जीनिया टेक यूनिवर्सिटी के वैज्ञानिकों ने एक शोध में पाया कि दस से पंद्रह फीसदी आबादी भी संक्रमित हो गई तो वायरस ताकत खो देगा। 

स्वीडन का उदाहरण-
शोधकर्ताओं ने स्वीडन का उदाहरण दिया। कोरोना को फैलने से रोकने के लिए जब पूरी दुनिया सख्त पाबंदियां लगा रही थी, लॉकडाउन किया जा रहा था तब स्वीडन ने कुछ नहीं किया। दुकानें-रेस्त्रां, बार और बाजार सब खोले रखा। नतीजा हुआ कि संक्रमण काफी तेजी से फैला और शुरुआत में  बड़ी संख्या में लोगों की मौत हुई। हालांकि, जब इम्युनिटी विकसित हो गई तो मौतों की संख्या घटने लगी।

आजकल वहां करीब सौ मामले रोज आ रहे हैं और पांच लोगों से भी कम मौतें हो रही हैं। शोधकर्ताओं के मुताबिक, जब स्वीडन में 7.3 फीसदी आबादी तक संक्रमण फैला तो 5280 मौतें हुई थीं लेकिन 14 फीसदी तक संक्रमण आते ही मौतें काफी कम हो गईं। इसका मतलब है कि वायरस अब उतना जानलेवा नहीं रहा।

स्पेन में नाकाम-
स्वीडन में हर्ड इम्युनिटी तो बनी लेकिन जिस यूरोपीय देश स्पेन में कोरोना ने खूब तबाही मचायी, वहां मात्र पांच प्रतिशत लोगों में इम्युनिटी हासिल हुई जबकि इस देश में 95% लोग वायरस के प्रति अतिसंवेदनशील पाए गए हैं।  ये चौंकाने वाले परिणाम बताते हैं कि हर्ड इम्युनिटी के बल कोरोना वायरस को हराना फिलहाल संभव नहीं है। 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Covid-19: if Ten to fifteen percent of the population will get infected then virus will become weak claims research