DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   लाइफस्टाइल  ›  Covid-19: एफडीए ने कोरोना के एंटीबॉडी उपचार को दी सशर्त मंजूरी

जीवन शैलीCovid-19: एफडीए ने कोरोना के एंटीबॉडी उपचार को दी सशर्त मंजूरी

एजेंसी,वाशिंगटनPublished By: Manju Mamgain
Sun, 22 Nov 2020 09:48 PM
Covid-19: एफडीए ने कोरोना के एंटीबॉडी उपचार को दी सशर्त मंजूरी

अमेरिका के दवा नियामक ने कोरोना के एंटीबॉडी दवा के आपात इस्तेमाल की सशर्त मंजूरी दे दी है। यह दवा कोविड-19 से लड़ने में प्रतिरोधक प्रणाली को मदद करती है। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को जब कोरोना संक्रमण हुआ था तो उन्हें यही उपचार दिया गया था। 

अमेरिका के खाद्य एवं औषधि प्रशासन (एफडीए) से रेजेनेरॉन फार्मास्यूटिकल्स इंक की एंटीबॉडी दवा के इस्तेमाल की मंजूरी के बाद हल्के से मध्यम लक्षण वाले मरीजों को दी जा सकेगी। एफडीए ने इसका इस्तेमाल व्यस्क एवं 12 साल के बच्चों या उससे ज्यादा उम्र के उन लोगों पर करने की अनुमति दी है, जिनका वजन कम से कम 40 किलोग्राम है और वे जो उम्र या अन्य चिकितस्कीय स्थितियों की वजह से गंभीर खतरे का सामना कर रहे हैं। 

आईसीयू में दवाब कम होगा : 
प्रांरभिक परिणामों से पता चला है कि यह दवा कोविड-19 की वजह से अस्पताल में भर्ती होने या गंभीर मरीजों की आईसीयू में भर्ती को कम कर सकती है। हालांकि, अब भी इसकी सुरक्षा और इसकी प्रभावशीलता का पता लगाने के लिए अध्ययन चल रहा है। इससे पहले एफडीए ने एली लिली की एंटीबॉडी दवाई को आपात मंजूरी दी थी और इससे जुड़ा अध्ययन भी अभी चल ही रहा है।  

तीन लाख खुराक उपलब्ध होगी : 
कंपनी रेजेनेरॉन ने कहा कि प्रारंभिक खुराक करीब 3,00,000 मरीजों के लिए संघीय सरकार आवंटन कार्यक्रम के जरिये उपलब्ध होगी। मरीजों को इसका शुल्क नहीं देना होगा, लेकिन उन्हें इसे देने के तरीके पर खर्च करना पड़ सकता है। 

संबंधित खबरें