DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   लाइफस्टाइल  ›  क्या कोरोना वैक्सीन महिलाओं के मासिक धर्म को भी कर रही है प्रभावित, जानें क्या है हकीकत

लाइफस्टाइलक्या कोरोना वैक्सीन महिलाओं के मासिक धर्म को भी कर रही है प्रभावित, जानें क्या है हकीकत

मंजू ममगाईं,नई दिल्लीPublished By: Manju Mamgain
Thu, 10 Jun 2021 06:56 PM
क्या कोरोना वैक्सीन महिलाओं के मासिक धर्म को भी कर रही है प्रभावित, जानें क्या है हकीकत

भारत में 18 साल से ऊपर के लोगों को कोरोना वैक्सीन लगने की शुरूआत हो चुकी है। ऐसे में सोशल मीडिया पर इस वैक्सीन और महिलाओं के पीरियड्स से जुड़े कई दावे किए जा रहे हैं। कहा जा रहा है कि माहवारी के समय महिलाओं की इम्यूनिटी बेहद कमजोर रहती है इसलिए उन्हें इस दौरान कोरोना वैक्सीन लगवाने से परहेज करना चाहिए। इसके अलावा कोरोना वैक्सीन के बारे में यह भी कहा जा रहा है कि इस वैक्सीन को लगवाने के कुछ समय तक व्यक्ति की इम्यूनिटी कमजोर बनी रहती है। अगर आपके मन में भी कोरोना वैक्सीन या अपने पीरियड्स और फर्टिलिटी को लेकर कुछ सवाल हैं तो आइए जानते हैं खुद विशेषज्ञों से ही इनके सही जवाब।   

क्या पीरियड के दौरान वैक्सीन लेना सुरक्षित है?
जवाब-
रोजवॉक अस्पताल में वरिष्ठ सलाहकार, स्त्री रोग विशेषज्ञ (गायनोकोलॉजिस्ट) डॉक्टर शैली सिंह के अनुसार पीरियड्स के दौरान किसी भी दिन महिलाएं यह वैक्सीन लगवा सकती हैं। यह पूरी तरह सुरक्षित है। इसका कोई साइड इफेक्ट नहीं है।

क्या कोरोना वैक्सीन महिलाओं के मासिक धर्म को भी प्रभावित कर रही है?
जवाब-
डॉक्टर शैली कहती हैं कि कोरोना वैक्सीन महिलाओं के मासिक धर्म को बिल्कुल प्रभावित नहीं कर रही है। डिले या पेनफुल पीरियड्स कोरोना के दौरान बढ़ते तनाव की वजह से भी हो सकता है। 

कुछ लोगों को वैक्सीन के बाद पीरियड्स डिले या पेनफुल पीरियड्स की शिकायत आ रही है। इसकी क्या वजह हो सकती है? 
जवाब-
डॉक्टर शैली बताती है कि कोरोना के दौरान महिलाओं पर काम का दबाव काफी बढ़ गया है। जिसकी वजह से उन्हें तवान की शिकायत ज्यादा रहने लगी है। यह भी उनके डिले या पेनफुल पीरियड्स का कारण बन सकती है। 

क्या कोविड-19 पीरियड के साइकिल को बदल सकता है?
जवाब-
कुछ महिलाओं में यह समस्या देखी जा रही है। दरअसल, करोना से रिकवरी के दौरान रोगी को खून पतला करने के लिए कुछ दवाएं दी जाती हैं। जिनकी वजह से पीरियड साइकिल में बदलाव के साथ-साथ हैवी फ्लो और दर्द जैसी परेशानी हो सकती है। 

असामान्य पीरियड्स और कोविड वैक्सीन के बीच कोई लिंक नहीं-
येल स्कूल ऑफ मेडिसिन की डॉ रैन्डी हटर एप्स्टीन और ऐलिस लु-कुलिगन ने कहा, 'अब तक ऐसा कोई डेटा नहीं मिला है जो कोरोना वैक्सीन और मासिक धर्म में होने वाले बदलाव के बीच किसी तरह के लिंक को स्थापित कर पाए'। 

 

पीआईबी ने एक बयान जारी कर कहा, "मैसेज जिनमें ये कहा जा रहा है कि लड़कियों और महिलाओं को पीरियड के पांच दिन पहले और पांच दिन बाद वैक्सीन नहीं लेनी चाहिए, वो फ़ेक है। इस अफ़वाह पर विश्वास न करें।"
 

संबंधित खबरें