DA Image
28 नवंबर, 2020|3:12|IST

अगली स्टोरी

Covid-19:कोरोना की कीमत चुका रहे कैंसर और हृदय रोग के मरीज, इलाज में आ रही समस्याएं

coronavirus in india centre to draw plan for states to follow delhi covid19 model

कोरोना महामारी की कीमत कैंसर और हृदय रोग के मरीजों को चुकानी पड़ रही है। न केवल उनके इलाज में समस्याएं आ रही हैं, बल्कि उनसे जुड़ी दवाओं और चिकित्सा पद्धतियों के शोध भी बंद हो गए हैं। ब्रिटेन ने कैंसर, हृदय रोग जैसी गंभीर बीमारियों की दवा और इलाज से जुड़े 1500 से जुड़े मानव परीक्षण स्थायी तौर पर बंद कर दिए हैं। इन रोगों से नौ हजार अन्य शोध धन की कमी से रोक दिए गए हैं। 

साउथैंपटन यूनिवर्सिटी के शोध प्रमुख माइकल हेड का कहना है कि महामारी ने सब पटरी से उतार दिया है। यह जीवनरक्षक दवाओं की खोज को तगड़ा झटका है, क्योंकि हमारे पास बीमारियों के नए लक्षणों पर कारगर दवाएं ही नहीं होंगी। उनके परीक्षण ही नहीं पूरे हो पाएंगे। 

कोरोना जैसी महामारी तो सौ साल में आती है, लेकिन कैंसर और हृदय रोग तो हर साल दुनिया में सबसे जान लेते हैं। ऐसी गंभीर बीमारियों के मरीजों को बचाना मुश्किल होगा। हेड ने कहा कि स्वास्थ्य क्षेत्र के 60 फीसदी शोध बंद या निलंबित किए गए हैं। यह स्वास्थ्य क्षेत्र में हमें दशकों पीछे धकेल देगा। 

ब्रिटेन में कैंसर से जुड़े शोध में 1471 करोड़ रुपये की कटौती की गई है, जो अगले चार-पांच साल जारी रहेगी। ब्रिटिश हार्ट फाउंडेशन भी शोध का बजट 980 करोड़ से 50 फीसदी घट गया है। इसमें एडिनबर्ग, न्यूकैसल यूनिवर्सिटी के ऐसे शोध शामिल हैं, जिनमें बिना सर्जरी के इलाज की पद्धतियां शामिल हैं। शोधकर्ताओं ने रिसर्च के लिए चैरिटी फंड बनाने की मांग की है। यूरोप में तंत्रिका तंत्र से जुड़ा पांच हजार लोगों पर किया जाने वाला शोध भी अटक गया है। 

अमेरिका में 50 फीसदी काम रुका-
अमेरिकन सोसायटी ऑफ क्लीनिकल ओंकोलॉजी ने भी माना है कि शोध का कार्य 50 फीसदी प्रभावित हुआ है। हृदय रोग की नौ बड़ी लैब में भी शोध-परीक्षण कार्य ठप हैं।

भारत भी पड़ेगा असर-
भारत और ब्रिटेन के बीच 2018 में एक करोड़ पाउंड के कैंसर रिसर्च का करार हुआ था, जिस पर भी असर पड़ने की आशंका है। भारत सरकार ने 2019 में 1500 करोड़ रुपये से 23 नए क्षेत्रीय कैंसर केंद्र बनाने की योजना शुरू की थी, जो प्रभावित हो सकती है। भारत में हर साल 11 लाख कैंसर मरीज मिलते हैं। हर दस में से एक व्यक्ति को कैंसर की आशंका है, जबकि हर 15 में से एक कैंसर पीड़ित की मौत हो जाती है। 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Covid-19: Cancer and heart patients are suffering due to Coronavirus