DA Image
14 अगस्त, 2020|11:27|IST

अगली स्टोरी

Covid-19:बच्चे बन सकते हैं कोरोनावायरस के करियर, शोध में खुलासा

school will not take fees for april and may before june dm gives relief to parents

बच्चे के कोरोनावायरस से संक्रमित होने का और दूसरों को फैलाने का खतरा बिल्कुल वयस्कों जैसा ही है। एक हालिया शोध में यह दावा किया गया है। इस शोध से ब्रिटेन में स्कूल खोलने की उम्मीदों पर पानी फिर सकता है। यूके के शिक्षा सचिव गैविन विलियमसन ने कहा, सरकार स्कूलों को चरणबद्ध तरीके से खोलने की योजना बना रही है। वहीं, चीन के वैज्ञानिकों ने पाया है कि बच्चे के संक्रमित होने का खतरा वयस्कों जैसा ही है। 

कोविड-19 बच्चों को कैसे प्रभावित करता है इसको लेकर अब भी विशेषज्ञ एक मत नहीं है। जब से महामारी की शुरुआत हुई है तब से बच्चों के गंभीर रूप से बीमार पड़ने और मौत के मामले बेहद कम देखे गए हैं। इंग्लैंड में 20 साल से कम उम्र के सिर्फ 10 लोगों की ही कोविड-19 से मौत हुई है। इससे अनुमान लगाया जा रहा था कि बच्चे इस बीमारी से काफी हद तक सुरक्षित हैं और इनमें संक्रमित होने और इसे फैलाने का खतरा कम है। 

समान है संक्रमण का खतरा-
शेंनजेन में किए गए एक शोध में पाया गया है कि बच्चों में वायरस के हमले का खतरा 7.4 फीसदी है और वहीं आम जनसंख्या के बीच यह खतरा 6.6 फीसदी पाया गया है। इंग्लैंड के वैज्ञानिकों ने कहा है कि यह शोध महत्वपूर्ण है और दर्शाता है कि बच्चे अपने अभिभावकों, दादा-दादी और शिक्षकों में कोरोनावायरस फैला सकते हैं और इससे दूसरे दौर के संक्रमण का खतरा बढ़ सकता है। 

चीनी शोधकर्ताओं ने जॉन हॉपकिंस यूनिवर्सिटी के साथ मिलकर यह शोध किया जिसमें 391 लोगों पर शोध किया गया, जिन्हें शेंनजेन में 14 जनवरी से 12 फरवरी के बीच कोविड-19 का संक्रमण हुआ था। उन्होंने कहा, वायरस के हमले की दर सभी उम्र के लोगों में लगभग समान पाया गया। उन्होंने पाया कि वायरस से संक्रमित किसी व्यक्ति के साथ रहने या संपर्क में रहने वाले व्यक्ति में संक्रमण का खतरा उम्र पर निर्भर नहीं होता। शेंनजेन के इस शोध ने जल्द स्कूल खोलने के उम्मीदों पर पानी फेर दिया है। 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Covid-19: A recent research reveals a shocking fact that school kids can become coronavirus careers up to 7 point 4 percent