DA Image
6 जून, 2020|10:58|IST

अगली स्टोरी

घंटों तक हवा में जिंदा रहता है कोरोना वायरस, खांसी, छींक से 8 मीटर दूर तक फैला सकता है संक्रमण

nizamuddin tabligi zamat markaz corona lockdown   search for people related to tabligi jamaat in bar

कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) और 'अमेरिका रोग नियंत्रण एवं रोकथाम केंद्र (सीडीसी) के सामाजिक दूरी के मौजूदा दिशानिर्देश पर्याप्त नहीं हैं और खांसी या छींकने से यह वायरस आठ मीटर दूर तक जा सकता है। 
     
 'जर्नल ऑफ द अमेरिकन मेडिकल एसोसिएशन में प्रकाशित अनुसंधान के अनुसार डब्ल्यूएचओ तथा सीडीसी ने इस समय जो दिशानिर्देश जारी किये हैं वे खांसी, छींक या श्वसन प्रक्रिया से बनने वाले 'गैस क्लाउड के 1930 के दशक के पुराने पड़ चुके मॉडलों पर आधारित हैं। 
     
अध्ययनकर्ता एमआईटी की एसोसिएट प्रोफेसर लीडिया बूरूइबा ने आगाह किया कि खांसी या छींक की वजह से निकलने वाली सुक्ष्म बूंदें 23 से 27 फुट या 7-8 मीटर तक जा सकती हैं। उन्होंने कहा कि मौजूदा दिशानिर्देश बूंदों के आकार की अति सामान्यकृत अवधारणाओं पर आधारित है और इस घातक रोग के खिलाफ प्रस्तावित उपायों के प्रभावों को सीमित कर सकते हैं।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Corona virus: MIT scientists reveals that Covid 19 can travel up to 8 metres from exhalation and linger in air for hours