DA Image
30 मई, 2020|8:47|IST

अगली स्टोरी

Corona Myth Busters:क्या लॉकडाउन के बाद एहतिहात जरूरी नहीं, सब्जियों के साथ थैले को भी गर्म पानी में धोना चाहिए,जानें सच

vegetable bag

Corona Myth Busters: इन दिनों कोरोना वायरस को लेकर कई तरह के मिथक प्रचलित हो रहे हैं। ऐसा ही एक मिथक लोगों के मन को परेशान कर रहा है कि क्या सब्जियों और उनके थैले को गर्म पानी में धोना चाहिए। इन सवालों को लेकर आम लोगों में मन में काफी भ्रम की स्थिति पैदा हो रही है। क्या है, इन मिथकों की सच्चाई, इस बारे में आपको बता रहा है ‘हिन्दुस्तान'।

कोरोना : मिथ और सच्चाई
लॉकडाउन के बाद ज्यादा एहतिहात की जरूरत नहीं होगी-
हकीकत-

लॉकडाउन खोले जाने का अर्थ यह नहीं होगा कि कोविड-19 खत्म हो गया है या अब किसी को यह संक्रमण नहीं होगा। स्वच्छता के व्यवहार को अब हमेशा के लिए अपनाना होगा। वायरस के संपर्क में आने से बचने के लिए जागरूक रहना होगा। हर रोज हाथ धोना और शारीरिक दूरी को बनाए रखना जरूरी होगा। ज्यादा स्पर्श की जाने वाली चीजों को असंक्रमित करते रहना होगा। खासतौर पर, जब तक कि इसका टीका नहीं आ जाता।
 
हाइड्रोक्लोरोक्विन सबको लेना चाहिए-
हकीकत-

क्रोविड संक्रमित और उनकी देखभाल कर रहे लोगों को यह दवा दी जा रही है। पर, उसका एक प्रोटोकॉल है और इसे चिकित्सक के कहे अनुसार ही लेना चाहिए। इसके नुकसान भी हो सकते हैं। जिन्हें भी हृदय संबंधी रोग हैं या जो कई रोगों से जूझ रहे हैं, उन्हें यह दवा नहीं लेनी चाहिए।
 
सब्जियों व उनके थैले को गर्म पानी में धोना चाहिए-
हकीकत-

कपड़े के बैग को सामान्य पानी व साबुन से धोकर धूप में सुखाना पर्याप्त है। उन्हें असंक्रमित भी कर सकते हैं। उन्हें घर में ऐसी जगह रखें, जहां बहुत वस्तुएं न रखी हों। सब्जियों को सामान्य पानी में अच्छी तरह धो लें। वायरस को मारने के लिए जितना तापमान जरूरी है, उसे हाथ लगाने से त्वचा चल जाएगी। यूं भी सब्जियों को पकाकर ही खाया जाता है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Corona Myth Busters: Do precaution is needed after lockdown and vegetables with their bags should be washed in hot water know truth and lies behind it