DA Image
4 मार्च, 2021|6:40|IST

अगली स्टोरी

पर्यटकों ने देखी महात्मा गांधी के 1936 में दिए भाषण की झलक, बापू कुटीर में खास रहा दो अक्टूबर का दिन

mahatma gandhi

राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की जयंती पर शुक्रवार को यहां बापू कुटीर में आंगुतकों को महात्मा गांधी द्वारा 84 साल पहले दिये गये भाषण की मुद्रित प्रतियां बांटी गयीं।
बापू कुटीर एक ऐसी छोटी कुटिया है जहां महात्मा गांधी स्वतंत्रता संग्राम के दौरान महाराष्ट्र के वर्धा के सेवाग्राम में रहते थे। अब यह पर्यटकों का आर्कषण केंद्र बन गया है और इस स्थान पर नियमित रूप से गांधीवादी आते रहते हैं। कोविड-19 महामारी के चलते मार्च के अंतिम सप्ताह से ही बंद इस स्थान को महात्मा गांधी की 151 वीं जयंती के मौके पर आंगुतकों के लिए खोला गया है। 
हर साल सेवाग्राम आश्रम प्रतिष्ठान गांधी जयंती पर विभिन्न कार्यक्रम करता है लेकिन इस बार महामारी के कारण किसी को आमंत्रित नहीं किया गया है और सादा कार्यक्रम रखा गया है। हालांकि आश्रम प्रबंधन ने शुक्रवार को बापू कुटीर को आंगुतकों के लिए खोलने का निर्णय लिया। आश्रम के सचिव मुकुंद म्हास्के ने कहा, ''हम बापू कुटीर में एक वक्त में बस पांच व्यक्तियों को इजाजत दे रहे हैं। आंगुतकों को राज्य सरकार के कोविड-19 नियमों का पालन करना होगा। इस साल आश्रम प्रबंधन ने महात्मा गांधी द्वारा सेवाग्राम में पहली बार 30 अप्रैल, 1936 को आने पर दिये गये भाषण की प्रतियां छपवायीं। उन दिनों यह शेगांव नाम से जाना जाता था और बाद में उसका नाम बदलकर सेवाग्राम कर दिया गया। 
 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Copies of mahatma gandhis speech were found in bapu cottage