फोटो गैलरी

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ लाइफस्टाइलCoffee Lovers! फिल्टर या इंस्टेंट कौन-सी कॉफी है बेहतर? इन बातों से जानें दोनों में फर्क 

Coffee Lovers! फिल्टर या इंस्टेंट कौन-सी कॉफी है बेहतर? इन बातों से जानें दोनों में फर्क 

जब भी बात कॉफी की होती है, तो फिल्टर और इंस्टेंट कॉफी की जरूर बात होती है। चाय की तरह ही कॉफी भी कई तरह की होती है। कॉफी के शौकीनों में अक्सर यह बात होती है कि कौन-सी कॉफी सबसे बेहतर है। आज हम आपको...

Coffee Lovers! फिल्टर या इंस्टेंट कौन-सी कॉफी है बेहतर? इन बातों से जानें दोनों में फर्क 
Pratimaलाइव हिन्दुस्तान टीम ,नई दिल्लीSat, 11 Apr 2020 05:43 PM
ऐप पर पढ़ें

जब भी बात कॉफी की होती है, तो फिल्टर और इंस्टेंट कॉफी की जरूर बात होती है। चाय की तरह ही कॉफी भी कई तरह की होती है। कॉफी के शौकीनों में अक्सर यह बात होती है कि कौन-सी कॉफी सबसे बेहतर है। आज हम आपको बताने जा रहे हैं इंस्टेंट कॉफी और फिल्टर कॉफी से जुड़ी खास बातें। 

 

इंस्टेंट कॉफी में होती है कैफीन की मात्रा कम 
इंस्टेंट कॉफी एक प्री-ग्राउंड कॉफी है जिसे एक तरह के कॉफी सॉल्यूशन में बदल दिया गया है जो पूरी सुखाने की प्रक्रिया से गुजरता है। इस कॉफी के दानों से पानी निकालता है और हमें तुंरत दानेदार कॉफी मिलती है। इंस्टेंट कॉफी बनाने के लिए आपको बस इतना करना है कि थोड़ा पानी उबालें, अपने कप में थोड़ी सी कॉफी डालें और उबलता हुआ पानी डालें और इस तरह आपकी कॉफी तैयार हो जाएगी। इंस्टेंट कॉफी के बारे में एक और खास बात यह है कि आप इसे बनाते समय किसी तरह की कोई अतिरिक्त चीज नहीं बचती । इंस्टेंट कॉफी में ताजे कॉफी की प्रचुरता नहीं होती है और इसमें  कैफीन की मात्रा भी कम होती है।

 

ताजगी से भरपूर और हल्दी होती है फिल्टर कॉफी 
इस कॉफी को ताज़ा या भुनी हुई कॉफी बीन्स के साथ तैयार किया जाता है, जिन्हें पहले जमीन पर उगाया जाता है और फिर इस्तेमाल किया जाता है। पूरी प्रक्रिया में कम से कम कुछ मिनटों और कुछ विशेष कॉफी उपकरणों की आवश्यकता होती है, जिसके बिना फिल्टर कॉफी तैयार करना मुश्किल है। यह प्रक्रिया मुश्किल होने के साथ महंगी भी है, साथ ही लंबी भी । वहीं, जब स्वाद की बात आती है, तो फिल्टर कॉफी, इंस्टेंट कॉफी की तुलना में थोड़ी हल्की और ताजगी का अनुभव कराती है। ऐसा इसलिए है क्योंकि कॉफी बीन्स आमतौर पर उच्च गुणवत्ता के होते हैं कैफीन की सामग्री एक फिल्टर या ताजी कॉफी में स्वाभाविक रूप से अधिक होती है क्योंकि इसका ग्राउंडिंग प्रोसेस बहुत लम्बा है। इस कॉफी में हाइ क्वालिटी बीन्स यानी रोबस्टा बीन्स इस्तेमाल किए जाते है।
 

epaper