Hindi Newsलाइफस्टाइल न्यूज़Cleaning the bathroom leads to body workout calories burned every minute

घर के इन कामों से कम होता है मोटापा, लॉकडाउन में आप भी कर सकते हैं ट्राई

पहले भारतीय घरों में बाथरूम कमरे और रसोई से दूर होते थे, तब उनके संक्रमण से घर को बचाना आसान था। अब अटैच बाथरूम के चलन के कारण बाथरूम को संक्रमण रहित रखना ज्यादा चुनौतीपूर्ण हो गया है। इन दिनों आप...

Manju Mamgain हिन्दुस्तान टीम, नई दिल्लीWed, 22 April 2020 10:01 AM
हमें फॉलो करें

पहले भारतीय घरों में बाथरूम कमरे और रसोई से दूर होते थे, तब उनके संक्रमण से घर को बचाना आसान था। अब अटैच बाथरूम के चलन के कारण बाथरूम को संक्रमण रहित रखना ज्यादा चुनौतीपूर्ण हो गया है। इन दिनों आप खुद घर की सफाई में जुटे हैं तो इस आदत को लॉकडाउन के बाद भी बनाए रखें क्योंकि हर दिन बाथरूम की सफाई संक्रमण से सुरक्षा देने के साथ एक बेहतरीन वर्कआउट भी है, जो आपकी सेहत बनाएगी। आइए जानते हैं कैसे बाथरूम से जुड़े घर के ये छोटे-छोटे काम आपका मोटापा कम करने में आपकी मदद कर सकते हैं। 

हर मिनट बर्न होगी बड़ी मात्रा में कैलोरी-
फर्श, बेसिन, टाइल आदि की सफाई करते समय आप हर मिनट बड़ी मात्रा में कैलोरी ऊर्जा खर्च कर सकते हैं इसलिए बाथरूम की सफाई एक अच्छा व्यायाम साबित होगा। सफाई के दौरान हाथों, पैरों और शरीर के निचले हिस्से की पूरी कसरत हो जाती है। हाथ ऊठाकर या पैरा झुकाकर सफाई करने से शरीर पर वर्कआउट जितना असर होता है।

बैठकर पोछा लगाने से मोटापा घटेगा-
बाथरूम में बैक्टीरिया एक सप्ताह तक जिंदा रह सकता है इसलिए यहां के फर्श की सफाई हर दिन करें। अगर आप बैठकर फर्श साफ करते हैं तो हर घंटे 240 कैलोरी ऊर्जा बर्न कर सकते हैं। इससे कमर का फैट भी घटेगा।

हाथों में आएगी लचक-
फर्श और टॉयलेट के साथ बाथरूम में रखी एसेसरीज को साफ करना भी बेहद जरूरी है। इससे न सिर्फ हैंडिल, ब्रुश स्टैंड, बाल्टी टोटी आदि पर मौजूद अदृश्य बैक्टीरिया से सुरक्षा मिलेगी, बल्कि हर छोटे-बड़े सामान को अलग से साफ करने से एरोबिक एक्सरसाइज हो जाएगी। सफाई में ब्रुश का इस्तेमाल करने से उंगली और कलाई भी लचकदार बनेंगी।

जब होम क्वारंटाइन में तो ये करें-
अगर आप इन दिनों होम क्वारंटाइन में हैं या आपके घर के किसी सदस्य में कोरोना के लक्षण दिख रहे हैं तो बाथरूम के इस्तेमाल को लेकर ज्यादा सतर्क रहने की जरुरत होगी। कोशिश करें कि संदिग्ध मरीज जिस बाथरूम का इस्तेमाल कर रहा है, उसमें कोई दूसरा न जाए। सेंटर फॉर डिसीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन के अनुसाार, अगर घर में एक ही बाथरूम है तो इस्तेमाल किए जाने के बाद मास्क व ग्लब्स पहनकर सफाई की जानी चाहिए।

मन पर सकारात्मक असर डालेगी ये सफाई-
स्वच्छ बाथरूम से शरीर ही नहीं मानसिक सेहत भी अच्छी होती है। जिससे साफ बाथरूम में मोशन आराम से आता है। यूनिवर्सिटी ऑफ कैलिफोर्निया के अनुसार, बेदाग बाथरूम को देखकर आपका मन चिंतामुक्त महसूस करता है। 

लेटेस्ट   Hindi News,   बॉलीवुड न्यूज,  बिजनेस न्यूज,  टेक ,  ऑटो,  करियर ,और   राशिफल, पढ़ने के लिए Live Hindustan App डाउनलोड करें।

ऐप पर पढ़ें