DA Image
हिंदी न्यूज़ › लाइफस्टाइल › प्रेगनेंसी के दौरान एक्सरसाइज के हैं फायदे, तीसरी तिमाही में करने के लिए ये हैं सेफ व्यायाम
लाइफस्टाइल

प्रेगनेंसी के दौरान एक्सरसाइज के हैं फायदे, तीसरी तिमाही में करने के लिए ये हैं सेफ व्यायाम

टीम लाइव हिंदुस्तान,नई दिल्लीPublished By: Avantika
Sun, 01 Aug 2021 11:45 AM
प्रेगनेंसी के दौरान एक्सरसाइज के हैं फायदे, तीसरी तिमाही में करने के लिए ये हैं सेफ व्यायाम

प्रेगनेंसी के दौरान कई तरह के शारीरिक परिवर्तनों के साथ विचारों और भावनाओं में भी बदलाव देखने को मिलता है। ऐसे में कई तरह के व्यायाम है, जो आपके शरीर को मजबूत और फिट रखेगा। रोजाना थोड़ी एक्सरसाइज करने से कई परेशानियां कम हो सकती है। हालांकि किसी भी प्रकार की एक्सरसाइज शुरू करने से पहले आप अपने डॉक्टर से सलाह जरूर लें। तो चलिए जानते हैं कुछ ऐसी एक्सरसाइज हैं जिन्हें आप डॉक्टर की सलाह पर कर सकते हैं। 

इन बातों का रखें ध्यान 

वैसे तो व्यायाम मां और बच्चे दोनों के लिए फायदेमंद होता है, हालांकि कुछ परेशानियों में डॉक्टर व्यायाम करने से मना करते हैं। 
1)अगर आपको दिल और फेफड़ों की बीमारी है तो एक्सरसाइज करने से बचें।
2)सरवाइकल इशू।
3)प्लेसेंटा के साथ समस्याएं।
4)वर्तमान गर्भावस्थ के दौरान समय से पहले प्रसव। 

क्या करें

प्रेगनेंट महिलाओं के लिए वॉक करना अच्छा ऑप्शन है। आप ड्रिफ्ट वॉक या जॉगिंग कर सकती हैं। रिसर्च के मुताबिक चलने से गर्भावस्था और प्रसव के दौरान होने वाली कठिनाइयों का खतरा कम हो जाता है। हालांकि, भारी प्रेगनेंट महिला को अपने शरीर पर पूरी तरह से ध्यान देना चाहिए। ऐसे में महिला को दौड़ने की सलाह नहीं दी जाती।  इस बात का ध्यान रखें कि अगर ज्यादा गर्मी है, तो घर में ही वॉक करें और खुद को हाइड्रेट रखें। अगर आपको चक्कर, योनि से रक्तस्त्राव, सांस लेने में कठिनाई होती है, तो डॉक्टर से बात करें।

प्रेगनेंट होने पर स्वीमिंग सबसे सुरक्षिक एक्सरसाइज में से एक मानी जाती है, क्योंकि ये कम प्रभाव वाली कसरत है। स्वीमिंग ताकत और सहनशक्ति में सुधार करता है। पूल में जाने से पहले उसकी गहराई को देखें और पानी में क्लोरीन की मात्रा के बारे में जानम लें। प्रेगनेंसी के दौरान काफी ज्यादा गर्म पानी में स्वीमिंग करने से बचें । ध्यान रखें की ठंडा पानी में व्यायाम करने से पसीना आता है। स्वीमिंग करने के बाद पानी उतना पीएं जितना आप पूल के बाहर व्यायाम करते समय पीते। 

तीसरी तिमाही में महिलाओं को योग और पीलाटे जैसे कम प्रभाव वाले व्यायामों से लाभ होता है। योगा आपको प्रसव की तैयारी में फिट और शक्तिशाली महसूस करने में मदद करता है। योग आसन करने से मां और बच्चे के लिए अधिक सुरक्षित और आरामदायक होता है। वहीं योग बेस्ट एक्सरसाइज है, जिनका शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य के सभी पहलुओं पर पॉजिटिव प्रभाव पड़ता है। अधिकतर गर्भवती महिलाओं का कहना है कि योग करने से बेहतर मूड, कम बेचैनी महसूस की है। 


प्रेगनेंसी के दौरान एक्सरसाइस के फायदे 

1)पीठ दर्द, कब्ज, सूजन और एडिमा सभी को कम किया जा सकता है। 

2)मूड और एनर्जी के लेवल के साथ नींद को इंप्रूव करता है। 

3)प्रेगनेंसी के दौरान शुगर का खतरा कम हो जाता है। 

4)सी-सेक्शन होने की संभावना कम होती है। 

संबंधित खबरें