DA Image
2 अप्रैल, 2020|2:54|IST

अगली स्टोरी

पीरियड्स के दर्द से छुटकारा पाने के लिए करती हैं चाय का सेवन, अनजाने में सेहत को पहुंचा रही हैं नुकसान

tea

हर लड़की के लिए पीरियड्स का समय काफी उलझन भरा रहता है। यह उलझन कई लड़कियां तो झेल लेती हैं लेकिन कुछ फीमेल्स के लिए पीरियड्स के दौरान होने वाले दर्द को सहन कर पाना काफी मुश्किल हो जाता है। इस दौरान होने वाले पीरियड्स के दर्द और क्रैम्प्स की वजह से कई बार महिलाओं का डेली रूटीन, प्रॉडक्टिविटी सबकुछ डिस्टर्ब हो जाता है जो कि 3 से 4 दिन बाद ही नॉर्मल होता है। ऐसे में इस दर्द से निजात पाने के लिए कई बार लड़कियां पेनकिलर तो कभी चाय का सहारा लेती हैं। लेकिन क्या आप जानती हैं पीरियड्स के दर्द से छुटकारा पाने के लिए चाय का सेवन करना आपकी सेहत को कितना नुकसान पहुंचा सकता है। आइए जानते हैं। 

हाल ही में हुए एक शोध में बताया गया है कि चाय में मौजूद कैफीन महिलाओं में पीरियड्स के दौरान पीएमएस की समस्या को बढ़ा सकता है। इतना ही नहीं ऐसा करने से व्यक्ति का ब्लड प्रेशर और हार्ट बीट भी तेज हो जाती है। 

काली चाय में सबसे ज्यादा मौजूद कैफीन-
काली चाय में कैफीन की मात्रा सबसे ज्यादा होती है। बता दें, काली चाय से भरे एक कप में लगभग 40 –60 मिलीग्राम कैफीन होता है। अक्सर इस तरह की चाय को मसाला टी या ब्लैक टी के नाम से जाना जाता है। 

ग्रीन टी भी कैफीन मौजूद-
अक्सर लोग ग्रीन टी को सेहत के लिए वरदान मानते हैं। लेकिन बहुत कम ही लोग जानते हैं कि इसमें भी कैफीन मौजूद होता है। ग्रीन टी के एक कप में 30 –35 मिलीग्राम कैफीन होता है। ग्रीन टी में मौजूद पॉलीफेनोलिक यौगिक बॉडी के आयरन को अवशोषित करने में मदद करता है। हालांकि इसकी वजह से शरीर में मौजूद आयरन का स्तर भी प्रभावित होता है।

पानी की कमी और कब्ज बढ़ा सकती है चाय-
चाय पीने से पेट में गैस, कब्ज और कई बार शरीर में पानी की कमी भी हो सकती है। ऐसा इसलिए चाय में थियोफीलाइन नाम का एक केमिकल पाया जाता है। जिसकी वजह से चाय पीने के बाद व्यक्ति को पेट फूलने की समस्या होने लगती है। इसके अलावा चाय में मौजूद कैफीन और दूध मिलकर पेट में गैस बनाते है। जिसके कारण कई बार पेट में दर्द और मरोड़ होने लगता है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Avoid taking tea to get relief from Menstrual Cramp or period pain it can cause many health issues