फोटो गैलरी

Hindi News लाइफस्टाइल रेसिपीChhath Puja Prasad: छठ पूजा पर सीखें कैसे बनेगा खरना का प्रसाद 'रसिया'

Chhath Puja Prasad: छठ पूजा पर सीखें कैसे बनेगा खरना का प्रसाद 'रसिया'

Chhath Puja Prasad: छठ महापर्व पर पहली बार व्रत करने वाली हैं तो नहाय खाय से शुरू इस व्रत के दूसरे दिन खरना में बनने वाले प्रसाद रसिया को बनाने का सही तरीका पता होना चाहिए। जिससे दूध ना फटे।

Chhath Puja Prasad: छठ पूजा पर सीखें कैसे बनेगा खरना का प्रसाद 'रसिया'
Aparajitaलाइव हिंदुस्तान,नई दिल्लीWed, 15 Nov 2023 01:08 PM
ऐप पर पढ़ें

दीपावली के बाद उत्तर प्रदेश, बिहार, झारखंड राज्यों में छठ की तैयारियां शुरू हो जाती है। महापर्व छठ संतान की लंबी उम्र और स्वास्थ्य के लिए किया जाता है। 4 दिन तक चलने वाले छठ पर्व की शुरुआत नहाय खाय के साथ होती है। वहीं व्रत के दूसरे दिन खरना होता है। जिसमे भोग में गुड़ की खीर चढ़ाने का विधान है। इस खीर को मिट्टी के चूल्हे पर आम की  लकड़ी में तैयार किया जाता है। हालांकि शहरों में लोग नए चूल्हे को भी इस्तेमाल कर लेते हैं। जिन लोगों का पहला छठ पर्व है उन्हें खरना का प्रसाद बनाने का सही तरीका पता होना चाहिए। तो चलिए जानें कैसे बनाएंगे गुड़ की खीर रसिया।

रसिया (गुड़ की खीर) बनाने की सामग्री
चावल 2 कप
फुल क्रीम दूध 1 लीटर
गुड़ 250 ग्राम (गुड़ को अच्छी तरह से फोड़ लें)
काजू- 10
बादाम-10
इलायची-5-6
किशमिश 15-20 

गुड़ की खीर बनाने की विधि
-सबसे पहले चावल को लेकर अच्छी तरह धो लें और प्रसाद बनाने के करीब 2 घंटा पहले ही इसे भिगोकर रख दें।
-किसी गहरे और मोटे तले के बर्तन में दूध को पलटकर उबालें। 
-दूध उबलने के दौरान ड्राई फ्रूट्स को अच्छी तरह से काट लें। ड्राई फ्रूट्स में काजू, बादाम, पिस्ता, अखरोट, किशमिश को ले सकते हैं। 
-इलायची के छिलके हटाकर दानों को बारीककूट लें। 
-चावल जब दो घंटे भीग जाएं तो इनका पानी छानकर रख लें।
-दूध में उबाल आने के बाद इन भीगे चावलों को दूध में डाल दें। ध्यान रहे कि चावल दूध में डालने के बाद चम्मच से अच्छी तरह नीचे से ऊपर चला दें। नहीं तो चावल नीचे तली में चिपक जाएंगे। 
-चावल के साथ दूध में उबाल आ जाए तो गैस की फ्लेम को धीमा कर दें। बीच-बीच में चावल को चलाते रहें जिससे कि तली में लगने ना पाएं।
-किसी दूसरे बर्तन में पानी गर्म करें और गुड़ को डाल दें। जब गुड़ पूरी तरह से गल जाए तो गैस की फ्लेम बंद कर दें। 
-इधर चावल पक कर बिल्कुल मुलायम हो जाएं तो उनमे सूखे मेवे बारीक कटे हुए उन्हें डाल दें। 
-खीर को अच्छी तरह से मिक्स करें और कुटी हुई इलायची के दानें डाल दें। अच्छी तरह से सारी चीजों को मिक्स करे
-गैस की फ्लेम बंद कर खीर को ठंडा हो जाने दें। 
-फिर घुले गुड़ को छानकर खीर में मिला दें। बस तैयार है खरना का प्रसाद रसिया यानी गुड़ की खीर।
-मान्यता है कि इस प्रसाद को खाने से त्वचा संबंधी बीमारियां ठीक होती है। 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें