Hindi Newsलाइफस्टाइल न्यूज़रेसिपीglowing skin to boost immunity know how to make mulberry jam recipe benefits in hindi

स्वाद ही नहीं त्वचा का निखार भी बनाए रखता है शहतूत का जैम, ये है रेसिपी और फायदे

Mulberry Jam Recipe: आजतक आपने कई तरह के फलों से बने जैम का स्वाद चखा होगा। लेकिन क्या आप जानते हैं शहतूत के जैम का स्वाद बाकी फलों के जैम से ना सिर्फ अलग बल्कि टेस्टी भी है।

Manju Mamgain लाइव हिन्दुस्तानTue, 18 June 2024 04:54 PM
हमें फॉलो करें

Mulberry Jam Recipe: सुबह का नाश्ता हो या शाम की हल्की-फुल्की भूख, पराठे के साथ लगा जैम, स्वाद बढ़ाकर भूख शांत करने का काम करता है। आजतक आपने कई तरह के फलों से बने जैम का स्वाद चखा होगा। लेकिन क्या आप जानते हैं शहतूत के जैम का स्वाद बाकी फलों के जैम से ना सिर्फ अलग बल्कि टेस्टी भी है। शहतूत का जैम न्यूट्रिएंट्स से भरपूर है। इसमें डाइटरी फाइबर, कैल्शियम, पोटेशियम, आयोडीन, सोडियम, प्रोटीन, विटामिन सी, विटामिन के, विटामिन ई, विटामिन b1, विटामिन B2, विटामिन B3, विटामिन B6 और फोलेट जैसे पोषक तत्व अच्छी मात्रा में पाए जाते हैं। जो ना सिर्फ सेहत का ख्याल रखते हैं बल्कि त्वचा को भी ग्लोइंग और स्मूद बनाए रखने में मदद करते हैं।

शहतूत का जैम बनाने के लिए सामग्री-

-800 ग्राम फ्रेश शहतूत

-4 से 5 कप खांड

-1/2 कप फ्रेश नींबू का रस

-1 चुटकी जायफल का पाउडर

शहतूत का जैम बनाने का तरीका-

शहतूत का जैम बनाने के लिए सबसे पहले गैस पर एक पैन चढ़ाकर उसमें शहतूत,खांड और नींबू का रस डालकर मध्यम आंच पर लगभग 20 मिनट तक अच्छी तरह से पकाएं। पकाते समय बीच-बीच में इस मिश्रण को अच्छी तरह चलाते रहें। धीरे-धीरे यह जैम जैसी कंसिस्टेंसी में बदलकर गाढ़ा हो जाएगा। अब इसे गैस से नीचे उतारकर इसमें जायफल पाउडर डालकर अच्छी तरह मिक्स कर लें। इसके बाद जैम को ठंडा होने के लिए छोड़ दें। आपका जैम बनकर तैयार है, इसे ग्लास के एक जार में डालकर रेफ्रिजरेटर में 5 से 6 महीने तक स्टोर करके रखें।

शहतूत का जैम खाने के फायदे-

-शहतूत में सायनायडिंग 3-ग्लूकोसाइड नाम का फाइटोन्यूट्रिएंट पाया जाता है, जो ब्‍लड सर्कुलेशन को बेहतर बनता है।

-शहतूत में मौजूद हाइपरग्लाइसेमिक गुण की वजह से डायब‍िटीज रोगी भी इसका सेवन सीम‍ित मात्रा में कर सकते हैं।

-शहतूत में मौजूद विटामिन-सी और फ्लेवोनॉइड्स इम्‍यून‍िटी को बेहतर बनाए रखने में मदद कर सकते हैं।

-शहतूत में हीमोग्लोबिन का स्तर बढ़ाने वाले एंटी-हीमोलिटिक गुण मौजूद होते हैं, जो खून की कमी दूर करने में मदद करता है।

-शहतूत में मौजूद कैल्शियम की मात्रा हड्ड‍ियों की कमजोरी दूर करने में मदद कर सकती है।

लेटेस्ट   Hindi News,  लोकसभा चुनाव 2024,  बॉलीवुड न्यूज,  बिजनेस न्यूज,  टेक,  ऑटो,  करियर ,और   राशिफल, पढ़ने के लिए Live Hindustan App डाउनलोड करें।

ऐप पर पढ़ें