Hindi Newsलाइफस्टाइल न्यूज़पेरेंट्स गाइडTell these things to your children to make them self confident and successful easy parenting tips

Parenting Tips: हर हाल में अपने बच्चे से करें ये बातें, जीवन में आत्मविश्वास की कभी नहीं होगी कमी

  • आज हम आपको कुछ ऐसी बातें बताने वाले हैं जिन्हें आपको हर हाल में अपने बच्चे से करना चाहिए। अगर आप ऐसी बातें अपने बच्चे से करते हैं तो वो आगे चलकर एक कॉन्फिडेंट, साहसी, निडर और सफल इंसान बनता है।

Anmol Chauhan लाइव हिन्दुस्तानTue, 25 June 2024 05:15 PM
हमें फॉलो करें

हर मां–बाप यही चाहते हैं कि उनका बच्चा अपने जीवन में बहुत सक्सेसफुल हो। इसके लिए सबसे जरूरी चीज है आत्मविश्वास। अगर आपका बच्चा शुरू से ही आत्मविश्वास से भरा हुआ है तो वो आगे चलकर अपने लिए जगह बना ही लेगा। एक छोटे बच्चे को कॉन्फिडेंट बनाने में उसके मां–बाप की बहुत अहम भूमिका होती है। बचपन में ही अगर मां–बाप अपने बच्चे के आत्मविश्वास को बढ़ाने की दिशा में काम करते हैं तो आगे चलकर उनके सामने एक सफल, कॉन्फिडेंट, निडर और साहसी युवा खड़ा होता है। आज हम आपको कुछ ऐसी बातें बताने वालें हैं जिन्हें आपको अपने बच्चों से जरूर करना चाहिए ताकि आगे चलकर वो कॉन्फिडेंट और साहसी बनें।

बच्चों को 'ना' कहना सिखाएं

शायद हममें से बहुत लोगों को हमेशा हां कहने की आदत है जिसकी वजह से आज भी कई बार हम ना चाहते हुए भी कई कामों को मना नहीं कर पाते हैं। बच्चों को बचपन से ही अपनी बाउंड्रीज तय करना सिखाएं। उन्हें बताएं कि अगर उन्हें किसी काम को करने का मन नहीं है या उन्हें लगता है वो काम ठीक नहीं है तो वो सामने वाले से ना कह सकते हैं। यह एक बहुत जरूरी लाइफ स्किल है जो जीवन में आगे तक काम आती है।

बच्चों के साथ बैठकर उन्हें खुद को पहचानने में मदद करें

बच्चे के साथ रोज थोड़ी देर बैठें और समय गुजारें। उन्हें उनकी खूबियों के बारें में बताएं। हो सकता है आपका बच्चा मैथ्स में अच्छा ना हो लेकिन ड्राइंग में काफी अच्छे नंबर लाता हो। उसे उस बात के लिए शाबाशी दीजिए। दुनिया की नजर में अक्सर वो खूबियां छिप जाती हैं जिन्हें वो देखना ही नहीं चाहते लेकिन आप अपने बच्चे की उन खूबियों को तराशें। उनसे बात करें और उन्हें विश्वास दिलाएं की वो बहुत खास हैं और उनमें भी कई टैलेंट्स हैं।

अपनी गलतियों को एक्सेप्ट करो,उन्हें सुधारों और आगे बढ़ो

कई बार बच्चे कुछ गलतियां कर बैठते हैं तो पैरेंट्स उन्हें डांटने फटकारने पर उतारू हो जाते हैं। इससे बच्चे के मन में एक डर बैठ जाता है कि अगर आगे उसने दोबारा गलती की तो फिर सुनने को मिलेगा। बस यहीं से वो अपनी गलती किसी और पर मढ़ना और झूठ बोलना सीख जाते हैं। जब वो बड़े हो जाते हैं तब भी उनका यही बिहेवियर कायम रहता है जिससे जीवन में बहुत दिक्कत आती है। अपने बच्चों को अपनी गलती एक्सेप्ट करना सिखाएं और उससे सीख लेना भी। उन्हें बताएं की गलतियां करना सामान्य है और हर इंसान से गलती होती है।

तुम जो चाहते हो वो सब कर सकते हो

अपने बच्चे को शुरू से ही बताएं कि अगर वो कोई चीज चाहते हैं तो मेहनत की मदद से उसे हासिल किया जा सकता है। यह शायद सुनने में काफी नॉर्मल सी घिसी–पिटी बात लग रही हो लेकिन है सबसे जरूरी। बचपन ही वो समय होता है जब आप बच्चे से अगर कुछ कहें तो वो आसानी से मान लेता है। अगर बच्चे को शुरू से ही अपनी मेहनत पर विश्वास हो जाता है तो आगे चलकर वो एक कॉन्फिडेंट युवा बनता है। बच्चे को अपने आप में विश्वास दिलाएं साथ ही खुद भी उसपर अपना भरोसा जताते रहें।

लेटेस्ट   Hindi News,  लोकसभा चुनाव 2024,  बॉलीवुड न्यूज,  बिजनेस न्यूज,  टेक,  ऑटो,  करियर ,और   राशिफल, पढ़ने के लिए Live Hindustan App डाउनलोड करें।

ऐप पर पढ़ें