फोटो गैलरी

Hindi News लाइफस्टाइल पेरेंट्स गाइडParenting Guide: बच्चों के अंदर छिपे टैलेंट की इन तरीकों से कर सकते हैं पहचान

Parenting Guide: बच्चों के अंदर छिपे टैलेंट की इन तरीकों से कर सकते हैं पहचान

Parenting Guide: पड़ोसी का बच्चा टैलेंटेड है, ऐसा सोचकर अपने बच्चे पर एक्टीविटी करने का प्रेशर ना डालें। बल्कि समय के साथ पता करें कि आपके बच्चे को क्या पसंद है और उस फील्ड में टैलेंट बनाएं।

Parenting Guide: बच्चों के अंदर छिपे टैलेंट की इन तरीकों से कर सकते हैं पहचान
Aparajitaलाइव हिंदुस्तान,नई दिल्लीSat, 04 Nov 2023 03:55 PM
ऐप पर पढ़ें

आजकल पैरेंट्स चाहते हैं कि उनका बच्चा सारे फील्ड में आगे रहे। पढ़ाई के साथ ही वो दूसरी एक्टीविटीज भी करे। लेकिन इंसान होने के नाते हर किसी की पसंद और शौक अलग होती है। आपके बच्चे के साथ भी ऐसा ही है। जरूरी नहीं कि उसे आपकी तरह डांस का शौक हो या फिर वो सिंगिंग करना चाहता हो। अपने बच्चे के अंदर छिपे टैलेंट को पहचानना और उसे बढ़ावा देना बेहद जरूरी है। जिससे वो आगे चलकर लाइफ में उस फील्ड में सफलता हासिल करे। केवल एकेडमिक मार्क्स हासिल करना जरूरी नही है। अगर आप अपने बच्चे के अंदर छिपे टैलेंट को पहचानना चाहते हैं तो ये तरीके हेल्प कर सकते हैं। 

बच्चे को नई चीजों से परिचय करवाएं
बच्चे के अंदर छिपे टैलेंट को पता करने के लिए उसे कई सारी फन एक्टीविटी में ले जाए। जिससे कि उसे पता चले कि उसमे कौन सा टैलेंट है। हालांकि इस काम में जल्दी बाजी ना करें। जरूरी नहीं कि बच्चा पहली बार में ही अपना इंटरेस्ट दिखा देगा। एनजीओ ले जाएं, क्रिकेट दिखाए, फिल्म दिखाएं, जू ले जाएं और ऐसी ही ढेर सारी एक्टीविटी बच्चे को एक्सप्लोर करवाएं। जिससे उसकी पसंद और टैलेंट के बारे में पता चल सके।

बच्चों के साथ टाइम स्पेंड करें
बच्चे हमेशा किसी के साथ खेलना और टाइम बिताना चाहते हैं। अपने बच्चे के साथ समय बिताएं। जिससे वो खेल सके और पता लग सके कि उसे कौन सा गेम या एक्टीविटी पसंद है। बच्चे को ढेर सारे सवाल पूछकर उत्सुकता पैदा करें और टीवी या मोबाइल में एक्टीविटी दिखाएं। और उसका इंटरेस्ट पता करें। 

बच्चे को स्पेस दें
बच्चे को अपनी क्रिएटिविटी करने दे और कुछ स्पेस दें। जिससे वो अपनी इमैजिनेशन पर ध्यान दें। जिससे बच्चे के हिडन टैलेंट के बारे में पता चलेगा। 

टीचर कर सकते हैं मदद
कुछ बच्चे घर में पैरेंट्स के सामने ज्यादा एक्टीविटी नहीं करते। लेकिन स्कूल में या टीचर को बच्चे के टैलेंट के बारे में पता होता है। इसलिए टीचर की मदद से आप बच्चे के अंदर छिपे टैलेंट को पता कर सकते हैं और उसे उस फील्ड में आगे बढ़ाने में मदद करें।

पैरेंट्स रखें इस बात का ध्यान
बच्चों को टैलेंटेड बनाना पड़ता है ये पैदाइशी गुण नहीं होता है। इसलिए धैर्य रखें और धीरे-धीरे उसे चीजें सिखाएं। जिससे कि बच्चा टैलेंटेड बनें।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें