फोटो गैलरी

Hindi News लाइफस्टाइल पेरेंट्स गाइडगुस्सैल और बदतमीज होने लगा है बच्चा तो नाराज होने की जगह अपनाएं ये टिप्स, जल्द दिखने लगेगा फर्क

गुस्सैल और बदतमीज होने लगा है बच्चा तो नाराज होने की जगह अपनाएं ये टिप्स, जल्द दिखने लगेगा फर्क

Tips to deal with an angry disrespectful child: अगर आपको भी फील हो रहा है कि आपका बच्चा जरूरत से ज्यादा गुस्सैल और बदतमीज हो रहा है तो उसे मारने या उस पर चिल्लाने की जगह अपनाएं ये पेरेंटिंग टिप्स। 

गुस्सैल और बदतमीज होने लगा है बच्चा तो नाराज होने की जगह अपनाएं ये टिप्स, जल्द दिखने लगेगा फर्क
Manju Mamgainलाइव हिन्दुस्तान टीम,नई दिल्लीFri, 24 Nov 2023 05:03 PM
ऐप पर पढ़ें

Tips to deal with an angry disrespectful child: बच्चों को अच्छी परवरिश देना पेरेंट्स के लिए कोई आसान काम नहीं है। बावजूद इसके माता-पिता अपने बच्चों को अच्छे संस्कार देने में अपनी तरफ से कोई कसर नहीं छोड़ते हैं। बच्चा जब तक छोटा होता है, उसे समझाना और सिखाना आसान होता है लेकिन बड़े होते बच्चे के विचार, व्यवहार में कई तरह के बदलाव आने लगते हैं। जिसकी वजह से कई बार बच्चे में जरूरत से ज्यादा गुस्सा, बड़ों के प्रति अनादर, गैरजिम्मेदाराना बर्ताव देखा जाता है। अगर आपको भी फील हो रहा है कि आपका बच्चा जरूरत से ज्यादा गुस्सैल और बदतमीज हो रहा है तो उसे मारने या उस पर चिल्लाने की जगह अपनाएं ये पेरेंटिंग टिप्स। 
 
गुस्सा करने से बचें-
अगर आप अपने बच्चे के नेचर में सुधार लाना चाहते हैं तो उसके गुस्सा और बदतमीजी करने पर अपना धैर्य बनाए रखें। अगर आप बच्चे के बदतमीजी करने पर उस पर चिल्लाते या गुस्सा करते हैं तो ये उसके गुस्से को और ज्यादा भड़का सकता है। ऐसे में अगर आपको लगता है कि आपका बच्चा गुस्से में बदतमीजी से बात कर रहा है तो पहले अपने गुस्से को काबू करने के लिए डीप ब्रीद लें और उसे कुछ समय के लिए अकेला छोड़ दें। थोड़ी देर बाद जब बच्चे का गुस्सा शांत हो जाएगा तो उसे प्यार से समझाएं कि उसके इस बर्ताव ने आपको और दूसरे व्यक्ति को कितना आहत किया है। बच्चे का गुस्सा शांत होने पर वह शांति से आपसे बात करेगा और आपकी बात को भी समझेगा। 
  
संगत पर दें ध्यान-
अगर आप इस बात से परेशान हैं कि बच्चे को घर पर अच्छा माहौल देने के बावजूद वो क्यों दूसरे लोगों के साथ गलत बर्ताव करता है तो हो सकता है उसके पीछे उसकी खराब संगत हो। ऐसे में बच्चे के दोस्त कैसे हैं, वह अपना वक्त किन लोगों के बीच और किस काम में अधिक बिताता है, टीवी या मोबाइल पर किस तरह के कार्यक्रम देखता है, इस पर नजर बनाए रखें, ताकि समय रहते आप उसे गलत संगत से दूर कर सकें।

सजा से ज्यादा समझाने पर ध्यान दें-
अक्सर पेरेंट्स बच्चे के गलत व्यवहार पर उसे कड़ी सजा देने लगते हैं। लेकिन ऐसा करके आप खुद अपने और बच्चे के रिलेशनशिप के बीच दूरियां पैदा कर रहे होते हैं। आपका ऐसा करना आप दोनों के रिश्ते को और ज्यादा बिगाड़ सकता है। ऐसे में बच्चे को सुधारने के लिए उसे सजा से ज्यादा प्यार से समझाने की कोशिश करें।  

गुस्से और बुरे व्यवहार के पीछे का कारण जानने की कोशिश करें-
बच्चे के बुरे व्यवहार को ठीक करने के लिए सबसे पहले उसके ऐसा करने के पीछे की वजह पता करने की कोशिश करें। हो सकता है कि आपका बच्चा किसी बात से असंतुष्ट या नाखुश हो। बच्चे के मन को टटोलें और समझने का प्रयास करें कि वह ऐसा व्यवहार क्यों कर रहा है, ताकि उसकी परेशानी का हल निकालकर उसके व्यवहार में बदलाव लाया जा सके।

अनुशासन है जरूरी-
एक अच्छे जीवन को जीने के लिए अनुशासन और नियम बेहद जरूरी होते हैं। बच्चे के लिए भी कुछ नियम जरूर बनाएं। बच्चे को बताएं कि उसे इन नियमों के पालन की जरूरत क्यों हैं। बच्चा जब अनुशासन और नियम का पालन करेगा तो वह गलत बर्ताव करने से दूर रहेगा।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें