ये 5 सलाह मानने वाले पेरेंट्स खुद अपने साथ ही कर लेते हैं बुरा, कहीं आप भी तो नहीं कर रहे ये मिस्टेक?

Worst Parenting Advice: कई बार माता-पिता की अनजाने में की गई कुछ गलतियां बच्चे का मनोबल ही नहीं तोड़ती बल्कि माता-पिता की मुश्किलें भी बढ़ा देती हैं। जिसके पीछे वजह कुछ गलत सलाह होती हैं।

Manju Mamgain लाइव हिन्दुस्तान टीम, नई दिल्लीTue, 13 Feb 2024 08:04 PM
हमें फॉलो करें

Worst Parenting Advice: बात जब बच्चे की अच्छी-बुरी परवरिश की होती है तो उसकी शुरुआत हमेशा घर से ही की हो जाती है। पेरेंट्स और बच्चे का रिश्ता जितना मजबूत होता है, उतना ही ज्यादा सेंसिटिव भी होता है। कई बार माता-पिता की अनजाने में की गई कुछ गलतियां कर बैठते हैं, जो माता-पिता की मुश्किलें बढ़ा सकती हैं। हालांकि ज्यादातर मामलों में इसके पीछे वजह लोगों से मिलने वाली कुछ गलत सलाह होती हैं। आइए जानते हैं मां-बाप को अपने बच्‍चे की परवरिश करते समय किन गलत बातों को फॉलो करने से बचना चाहिए।  

बच्‍चे के साथ सो जाएं-
अक्‍सर नई माताओं को यह सलाह दी जाती है कि उन्हें अपनी नींद पूरी करने के लिए अपने बेबी के साथ ही सो जाना चाहिए। लेकिन क्या ये वाकई असल जिंदगी में कर पाना संभव है? जवाब है नहीं, बता दें, छोटे बच्चों का स्‍लीप पैटर्न बड़े लोगों से काफी अलग होता है। इसके अलावा कोई भी मां घर के बाकी काम छोड़कर बच्चे के साथ सोने का समय निकाल पाए ये थोड़ा मुश्किल हो सकता है।

गोद में लेने से बिगड़ जाते हैं बच्चे-
आपने कई बार लोगों को यह कहते हुए सुना होगा कि बच्‍चे को हर समय अपनी गोद में रखने से वो लाड़ में आकर बिगड़ने लगता है। आप इस सलाह पर बिल्कुल ध्यान ना दें। छोटे बच्‍चों को प्‍यार और केयर की बेहद जरूरत होती है। अपनी इस जरूरत को पूरा करने के लिए वो अपने पेरेंट्स का साथ चाहते हैं। आपका साथ उनका बॉन्ड आपके साथ मजबूत बनाए रखने में मदद करता है।

बच्चों पर अहसान जताना-
कई लोग बच्चों पर हमेशा इस बात का अहसान जताते रहते हैं कि वो उन्हें अच्छी परवरिश दे रहे हैं या उन्हें इस दुनिया में लाए हैं। आप ऐसी गलती ना करें। आपके ऐसा करने से आप खुद ही अपने बच्चे का आत्मविश्वास कमजोर करके उसके मन में निराशा को जगा रहे हैं।ध्यान रखें, बच्चे को दुनिया में लाना यह आपकी च्वाइस थी। उसे हमेशा ये अहसास दिलाना कि आप उसपर कोई अहसान कर रहे हैं ये सही नहीं है।

रोने से रोकना-
यूं तो कोई भी पेरेंट्स अपने बच्चे को रोता हुआ नहीं देख सकते हैं। लेकिन कई मौकों पर आपको ऐसा करने देना चाहिए। बच्‍चे को कोई बात बुरी लगती है तो आप उसे कुछ देर के लिए रोने दें। इससे बच्‍चा खुद को ठीक कर करके परेशानियों से लड़ना सीखता है। हालांकि ऐसे समय में आप अपने बच्चे के आसपास रहकर उसे सपोर्ट करें।

पैसे पेड़ पर नहीं उगते-
छोटे बच्चों के स्वभाव में जिद्द करना शामिल होता है। ऐसे समय में आपको अपने बच्चे को डांटने की जगह प्यार से समझाना चाहिए। लोगों की सलाह पर उन्हें यह कहावत सुनाना बंद करें कि पैसे पेड़ पर नहीं उगते। बच्चे से इस तरह बात करने की जगह आप उसे अपनी स्थिति के बारे में बताएं।

लेटेस्ट   Hindi News,  लोकसभा चुनाव 2024,  बॉलीवुड न्यूज,  बिजनेस न्यूज,  टेक,  ऑटो,  करियर ,और   राशिफल, पढ़ने के लिए Live Hindustan App डाउनलोड करें।

ऐप पर पढ़ें