Hindi Newsलाइफस्टाइल न्यूज़पेरेंट्स गाइडmyth or reality about worm infection symptoms of worms in kids stomach

Worm In Stomach: बच्चों के पेट में कीड़े हैं या नहीं?, केवल ये लक्षण नहीं है जिम्मेदार

Worm In Stomach: बच्चों के हेल्दी रहने और न्यूट्रिशन शरीर को ठीक से मिले इसके लिए डिवार्मिंग जरूरी है। जिससे कि पेट में कीड़े ना पनपें। पेट में कीड़े होने से जुड़ी तीन बातें जो कई बार मिथ होती हैं।

worm in kids stomach
Aparajita लाइव हिन्दुस्तान, नई दिल्लीSun, 12 May 2024 02:10 PM
हमें फॉलो करें

बच्चों के पेट में कीड़े होने का कारण साफ-सफाई की कमी होती है। जिसकी वजह से पेट में इंफेक्शन हो जाता है। बच्चे अक्सर गंदे हाथों को मुंह में डालते हैं। जिससे ये वार्म्स मुंह के रास्ते में पेट में पहुंच जाते हैं और इंफेक्शन फैलाते हैं। बच्चों के शरीर में अगर इस तरह के लक्षण दिख रहे हों तो ये पेट में कीड़े होने का संकेत होते हैं।

पेट में कीड़े होने पर बच्चों में दिखने वाले लक्षण
बच्चों के प्राइवेट पार्ट में खुजली
बच्चों के पेट खासतौर पर नाभि वाले हिस्से के आसपास दर्द
वजन का घटना
चिड़चिड़ापन
मितली महसूस होना
स्टूल में खून आना
शौच के रास्ते में खुजली और दर्द
बार-बार दस्त की समस्या
बच्चों का खराब डाइजेशन

पेट में कीड़े होने से जुड़े कुछ मिथ
कुछ डाक्टरों का कहना है कि जरूरी नहीं कि बच्चों के शरीर में दिख रहे ये लक्षण पेट में कीड़े होने के संकेते हो।

चेहरे पर सफेद पैचेस
इंस्टाग्राम पर शेयर वीडियो में बच्चों की डॉक्टर माधवी भारद्वाज बच्चों के पेट में कीड़े होने के 3 मिथ बता रही हैं उनका कहना है बच्चों के चेहरे पर दिख रहे सफेद रंग के पैचेस कई बार कैल्शियम की कमी या पेट में कीड़े होने का संकेत नहीं होते बल्कि ये मॉइश्चराइजर की कमी की वजह से होते हैं। जिनका ट्रीटमेंट सही मॉइश्चराइजर की मदद से किया जा सकता है। 

दांत किटकिटाने की आदत
आमतौर पर रात को दांत किटकिटाने की आदत को पेट में कीड़े होने से जोड़कर देखा जाता है। लेकिन जरूरी नहीं कि दांत किटकिटाने का मतलब पेट में कीड़े हो। बच्चों का ये एक बिहेवियरल रिएक्शन होता है। कई बार बच्चों के मुंह में जब तक पूरे दांत नहीं निकलते तब तक बच्चे दांत किटकिटाते हैं।

मुंह से लार निकलना
बच्चे के चार से साढ़े चार किलो का होने के साथ मुंह में हाथ डालना शुरू हो जाता है। जिसकी वजह से लार निकलने लगती है। ये लार शरीर के लिए बेहद जरूरी है क्योंकि खाने को पचाने में मदद करती है। जब लार बनने लगती है तो पता चलता है कि इंटेस्टाइन में गुड बैक्टीरिया बनने लगे हैं और ये डाइजेशन में मदद करेंगे।

लेटेस्ट   Hindi News,  लोकसभा चुनाव 2024,  बॉलीवुड न्यूज,  बिजनेस न्यूज,  टेक,  ऑटो,  करियर ,और   राशिफल, पढ़ने के लिए Live Hindustan App डाउनलोड करें।

ऐप पर पढ़ें