फोटो गैलरी

Hindi News लाइफस्टाइल पेरेंट्स गाइडबच्चा हर बात पर करता है जिद तो उसे इन तरीकों से करें डील

बच्चा हर बात पर करता है जिद तो उसे इन तरीकों से करें डील

Tantrum In Kids: कुछ बच्चे काफी ज्यादा जिद्दी और गुस्सैल होते हैं। उन्हें हर चीज में जिद करनी होती है। यहां तक कि वो जिद से खिलौने और सामान तक मांग लेते हैं। ऐसे बच्चों को इन तरीकों से हैंडल करें।

बच्चा हर बात पर करता है जिद तो उसे इन तरीकों से करें डील
Aparajitaलाइव हिंदुस्तान,नई दिल्लीSun, 29 Oct 2023 04:54 PM
ऐप पर पढ़ें

कुछ बच्चे बहुत ज्यादा जिद्दी और गुस्सैल होते हैं। उन्हें हर लगता है उनकी हर छोटी से छोटी बात मानी जाए। और ऐसा ना करने पर वो रोने, चिल्लाने और गुस्सा होने लगते हैं। कुछ बच्चे तो जिद के बीच सामान उठा-पटक करते हैं। ऐसे में पैरेंट्स अक्सर उन्हें मारते-डांटते हैं। लेकिन बच्चों को सुधारने और उनकी जिद को खत्म करने का ये तरीका सबसे खराब है। जिससे बच्चे और भी ज्यादा गुस्सैल, जिद्दी और चिड़चिड़े हो जाते हैं। बच्चा अगर हर बात पर जिद करता है तो उसे इन 4 तरीकों से हैंडल करें। 

बच्चे को उसके इमोशन के बारे में बताएं
बच्चे का विकास पूरी तरह से नहीं हुआ होता। ऐसे में बच्चे यही नहीं समझ पाते कि उन्हें गुस्सा होना चाहिए, चिल्ला ना चहिए या फिर शांत होकर अपनी बात कहनी चाहिए। बच्चे के गुस्सा होने, चिड़चिड़ाने या फिर नाराज होने के इमोशन को बोलकर बताएं कि वो ऐसा क्यों कर रहा है। 

बराबरी पर बात करें
बच्चा जब रो रहा हो और तेजी से चिल्ला रहा हो तो उस वक्त चिल्लाने की बजाए उसके बराबर में बैठकर उसे प्यार से बैठाकर बात करें। बच्चे के लेवल में रहकर समझाने से बच्चे ज्यादा अच्छे से समझ पाते हैं। 

जिद पूरी ना करने की वजह बताएं
बच्चा अगर किसी खिलौने या चीज के लिए रो रहा है तो उसे बताएं कि आप उसे क्यों उस चीज को नहीं दिला सकते। इस बात को समझाने के लिए आप अपने बचपन की बातों का सहारा लेकर उसे समझा सकते हैं।

बच्चे को रोने-चिल्लाने दें
बच्चा अगर जिद से रो रहा और चिल्ला रहा है तो उसे कुछ देर के लिए ऐसा करने दें। पर ध्यान रखें कि घर के बाहर उसके चिल्लाने से किसी को दिक्कत तो नहीं हो रही। इससे बच्चे को समझ आएगा कि उसके चिल्लाने या रोने से जिद नहीं पूरी होगी। इस दौरान आप चाहें तो बच्चे को पास में बैठाएं या गोद में लें। एक बार जब बच्चा थोड़ा शांत हो जाए फिर उसे समझाने की कोशिश करें। क्योंकि बच्चा जब रो रहा होगा या चिल्ला रहा होगा तो वो आपकी बात बिल्कुल नहीं सुनेगा।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें