Hindi Newsलाइफस्टाइल न्यूज़पेरेंट्स गाइडparenting tips know the 5 qualities of good mothers for raising happy children in hindi

हर अच्छी मां में होती हैं ये 5 खूबियां, बच्चे भी एंजॉय करते हैं कंपनी

Qualities Of Good Mothers: अगर आप अपने बच्चे के अच्छे दोस्त बनकर उसके जीवन में ऐसे गुण उतारना चाहते हैं, जो भविष्य में उसे अच्छा व्यक्ति बनने में मदद करें तो पहले यह जान लें आखिर बेस्ट मॉम में होते हैं कौन से ऐसे गुण, जो उन्हें नॉर्मल मदर्स से अलग बनाते हैं।

Manju Mamgain लाइव हिन्दुस्तानTue, 4 June 2024 01:24 PM
हमें फॉलो करें

Qualities Of Good Mothers: बच्चों को अच्छी परवरिश देने का सपना, सभी माता-पिता देखते हैं। लेकिन यह एक बड़ी जिम्मेदारी है, जो हर कोई अच्छी तरह नहीं निभा पाता है। बच्चा अपना ज्यादा समय अपनी मां के साथ गुजारता है। जिसकी वजह से वो न सिर्फ अपने बच्‍चों की भावनाओं को अच्छी तरह समझ पाती हैं बल्कि उन्‍हें सही दिशा भी दे पाती हैं। हालांकि अपने बच्‍चे की परवरिश अच्छी तरह करते समय एक मां को बहुत कुछ सहना पड़ता है। इस दौरान बच्चा जो गुण अपनी मम्मी के भीतर देखता सुनता है, अनजाने में उन्हें ही कॉपी करने लगता है। ऐसे में अगर आप अपने बच्चे के अच्छे दोस्त बनकर उसके जीवन में ऐसे गुण उतारना चाहते हैं, जो भविष्य में उसे अच्छा व्यक्ति बनने में मदद करें तो पहले यह जान लें आखिर बेस्ट मॉम में होते हैं कौन से ऐसे गुण, जो उन्हें नॉर्मल मदर्स से अलग बनाते हैं।

सहानुभूति रखने वाली मां-

जो मां दूसरों के प्रति सहानुभूति रखती हैं,वो अपने बच्‍चों की भावनाओं को भी अच्‍छी तरह समझ पाती है। सहानुभूति के गुण से भरी मां न सिर्फ बच्चों की भावनाओं को समझती है बल्कि उन्‍हें अपनी भावनाओं को सही दिशा देने में भी मदद करती है।

धैर्य-

अच्छी पेरेंटिंग धैर्य जैसे गुण के बिना मुमकिन नहीं है। एक अच्छी मां के भीतर भी धैर्य का गुण जरूर मौजूद होना चाहिए। धैर्य रखने वाली मां बच्‍चों के उल्टे-सीधे अनगिनत सवालों और शरारतों से परेशान नहीं होकर अपना संयम बनाए रखती है। जिसकी वजह से बच्‍चों में भी धैर्य बनाए रखने का गुण अपने आप आ जाता है।

मेंटली स्‍ट्रॉन्‍ग-

मानसिक रूप से मजबूत महिलाएं अपने बच्‍चों को भी जीवन की हर कठिनाई का सामना करना सिखाती हैं। मां से सीखा ये गुण उन्हें भविष्य में आत्मविश्वास से भरने के साथ चुनौतियों का सामना करना भी सीखाता है। मानसिक रूप से मजबूत महिलाएं अपने बच्‍चे को चेहरे पर मुस्‍कान लेकर जिंदगी की हर परेशानी से निपटना सिखाती हैं।

इमोशनली स्‍ट्रॉन्‍ग-

बच्चे की खुशी और गम, हार और जीत सब कुछ मां की भावनाओं को गहराई से प्रभावित करता है। ऐसे में अगर कभी बच्चे की किसी बात से मां का दिल दुख जाए तो वह कमजोर पड़ सकती है। लेकिन बच्चे के बेहतर भविष्य के लिए हर मां को स्ट्रांग बने रहना चाहिए। इतना ही नहीं बेस्‍ट मॉम में जरूरत पड़ने पर अपने बच्‍चे को प्‍यार, सपोर्ट, डांट और प्रोत्‍साहित करने का हुनर भी बखूबी होता है। 

आत्म जागरूकता

हर इंसान की कुछ ताकत और कुछ कमजोरियां होती हैं। अच्छी मां को भी अपनी ताकत और कमजोरियों के बारे में पता होगा तभी वह आसानी से बच्चे को भी समझ पाएगी।

लेटेस्ट   Hindi News,  लोकसभा चुनाव 2024,  बॉलीवुड न्यूज,  बिजनेस न्यूज,  टेक,  ऑटो,  करियर ,और   राशिफल, पढ़ने के लिए Live Hindustan App डाउनलोड करें।

ऐप पर पढ़ें