फोटो गैलरी

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News लाइफस्टाइल पेरेंट्स गाइडये हैं बेबी स्किन केयर से जुड़ी वो गलतियां जो ज्यादातर पेरेंट्स करते हैं, सेहत को होगा नुकसान

ये हैं बेबी स्किन केयर से जुड़ी वो गलतियां जो ज्यादातर पेरेंट्स करते हैं, सेहत को होगा नुकसान

Parenting Mistakes: डॉक्टर माधवी भारद्वाज ने अपने इंस्टाग्राम पर एक वीडियो शेयर करके गर्मियों में बच्चे की स्किन केयर से जुड़ी ऐसी ही गलतियों के बारे में बताया है, जो ज्यादातर माता-पिता करते हैं।

ये हैं बेबी स्किन केयर से जुड़ी वो गलतियां जो ज्यादातर पेरेंट्स करते हैं, सेहत को होगा नुकसान
Manju Mamgainलाइव हिन्दुस्तानMon, 27 May 2024 06:15 PM
ऐप पर पढ़ें

गर्मी की बढ़ते तापमान ने बड़े लोगों को ही नहीं बल्कि अब बच्चों को भी परेशान करना शुरू कर दिया है। बच्चों को घमौरियां और रैशेज की समस्या होने लगी है।

हीट रैश, जिसे घमौरियां या मिलिएरिया भी कहा जाता है, बच्चों की पसीने की नलिकाओं के अवरुद्ध होने के कारण होती हैं। जिससे छुटकारा पाने के लिए ज्यादातर पेरेंट्स बच्चे को बेबी पाउडर लगाना शुरू कर देते हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं, ऐसा करके आप बच्चे की समस्या कम नहीं बल्कि बढ़ा रहे होते हैं। डॉक्टर माधवी भारद्वाज ने अपने इंस्टाग्राम पर एक वीडियो शेयर करके गर्मियों में बच्चे की स्किन केयर से जुड़ी ऐसी ही गलतियों के बारे में बताया है, जो ज्यादातर माता-पिता करते हैं।

गर्मियों में बच्चों को पाउडर लगाना-

डॉक्टर माधवी कहती हैं कि बच्चों के स्किन केयर रूटीन से पाउडर को काफी पहले ही निकाल दिया गया है। ऐसा इसलिए क्योंकि बच्चे को पाउडर लगाते समय उसके छोटे-छोटे कण सांस की नली के जरिए फेफड़ों में जाकर जमा होने लगते हैं। जो भविष्य में बच्चे के लिए परेशानी की वजह बन सकते हैं। इसके अलावा डॉक्टर बच्चों को टैलकम पाउडर इसलिए भी लगाने से मना करते हैं क्योंकि उसमें एस्बेस्टस मौजूद होता है, यह एक ऐसा पदार्थ है जो सांस के द्वारा फेफड़ों में और उसके आसपास कैंसर पैदा करने के लिए जाना जाता है।

वहीं डॉक्टर की मानें तो पाउडर के छोटे-छोटे कण बच्चे की स्किन के रोम छिद्र को भी बंद कर देते हैं। जिसकी वजह से बच्चा पसीने के जरिए जो बॉडी हीट रिलीज करना चाहता है वो भी नहीं कर पाता है।

सही तापमान में रखना है जरूरी-

गर्मियों में बच्चे को सही तापमान में रखना भी बेहद जरूरी है। इसके लिए आप अपने बच्चे को एसी के 24 से लेकर 28 तक के रूम टेंपरेचर में रख सकते हैं। इस बात का भी खास ख्याल रखें कि बच्चे के चेहरे पर एसी की सीधी हवा नहीं लगनी चाहिए।

हाइड्रेटेड रखें-

गर्मियों में बच्चे की बॉडी को हाइड्रेटेड बनाए रखने की कोशिश करें। इसके लिए बच्चे को पानी की पर्याप्त मात्रा पिलाएं। अगर बच्चा 6 महीने से बड़ा है तो जब भी आप खुद पानी पिएं तो बच्चे को भी पानी जरूर पिलाएं। भले ही आप बच्चे को एक या दो चम्मच ही पानी ही पिलाएं। ऐसा करने से बच्चा पानी का टेस्ट डेवलप करता है। आप चाहे तो बच्चे को छाछ, लस्सी, नारियल पानी, ओआरएस का घोल भी पीने के लिए दे सकते हैं।

कॉटन के कपड़े पहनाएं-

गर्मियों में बच्चों को कॉटन के कपड़े पहनाकर रखें। बच्चों को कभी भी टाइट फिटिंग कपड़े पहनाने की गलती ना करें। बच्चे को ठंड से बचाने के लिए आप लेयरिंग की मदद ले सकते हैं। अगर आपका बच्चाचिड़चिड़ा होने के साथ रो रहा है तो समझ जाएं कि आपने उसे ज्यादा कपड़े पहनाए हुए हैं।