फोटो गैलरी

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News लाइफस्टाइल जीवन मंत्रसोच-सोचकर दिमाग थक गया तो उसे ऐसे करें रिलैक्स, माइंड होगा क्लियर

सोच-सोचकर दिमाग थक गया तो उसे ऐसे करें रिलैक्स, माइंड होगा क्लियर

How to relax your mind: दिमाग में बहुत तरह के विचार और काम की थकान हावी होने लगती है तो दिमाग को ठीक तरीके से काम करने में मुश्किल होती है। ऐसे में इन तरीकों से दिमाग को रिलैक्स किया जा सकता है।

सोच-सोचकर दिमाग थक गया तो उसे ऐसे करें रिलैक्स, माइंड होगा क्लियर
Aparajitaलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीWed, 08 May 2024 11:48 AM
ऐप पर पढ़ें

दिमाग भी कई बार सोचते-सोचते थक जाता ऐसे में जरूरी है कि उसे रिलैक्स किया जाए। जिस तरह कामवाली जगह पर गंदगी और गैरजरूरी सामान रखे हो तो काम करना मुश्किल हो जाता है। उसी तरह से अगर दिमाग में भी गैरजरूरी बातें भरी हों तो इंसान का माइंड ठीक तरीके से वर्क नहीं करता। ऐसे में जरूरी है कि माइंड को क्लियर किया जाए। जिससे आपके विचार भी साफ होंगे और आपके लिए हर काम को करना भी आसान हो जाएगा। माइंड को रिलैक्स और क्लियर करने के लिए इन कामों को करना चाहिए।

ध्यान से काम करना जरूरी है
दिमाग को सही दिशा में काम करने के लिए ट्रेंड करना जरूरी है। इस काम में मेडिटेशन मदद करता है। मेडिटेशन करने से ना केवल दिमाग को एक दिशा में काम करने में मदद मिलती है। बल्कि स्ट्रेस भी दूर होता है। अगर मेडिटेशन करने के बाद भी आप एकाग्र होकर काम नहीं कर पा रहे हैं। तो भी एक काम को एक बार में करने की कोशिश करें। जिससे कि आ रहे दूसरे विचारों को पीछे करने में मदद मिले। 

अपने सेंस को महसूस करें
जब भी काम के बीच में दूसरे विचार आने लगे तो फौरन अपने आसपास आ रही आवाजों पर ध्यान केंद्रित करें। या फिर जिस चीज को आप छू रहे उसे महसूस करें या फिर चेहरे पर लग रही हवा को महसूस करें।

ब्रीद पर फोकस करें
काम के बीच में अगर स्ट्रेस के विचार आने लगे तो फौरन गहरी सांस लें। धीरे-धीरे सांस लें और फिर उसे छोड़ें। ऐसे करके अपने काम को फिर से शुरू करें। 

लिखना शुरू करें
जब भी माइंड में स्ट्रेसफुल विचार आने लगे तो इसे लिखने की कोशिश करें। लिखना हमेशा आसान नहीं होता लेकिन रिसर्च के मुताबिक लिखने से दिमाग में चल रहे कई सारे अजीब विचारों से छुटकारा मिलता है। इससे कॉग्निटिव फंक्शन और वर्किंग मेमोरी स्मूदली काम करते हैं और स्ट्रेस से आराम मिलता है। 

म्यूजिक सुनें
म्यूजिक सुनना तो बहुत सारे लोगों को पसंद होगा लेकिन म्यूजिक सुनने के कई सारे फायदे भी हैं। ये ना केवल स्ट्रेस को दूर करता है बल्कि मूड को भी ठीक करता है। नई चीजें सीखने के लिए मोटिवेट करता है और न्यूरोप्लास्टिसिटी को प्रमोट करता है। मतलब दिमाग नई चीजों को आसानी से अपना सके। इसके लिए भी मदद करता है। अगर आप रोजाना म्यूजिक सुनते हैं तो नोटिस करेंगे कि काम को पूरी एकाग्रता के साथ करना ज्यादा आसान हो रहा है। 

पर्याप्त नींद लें
पर्याप्त मात्रा में नींद लेना जरूरी है। जब भी शारीरिक रूप से थकान महसूस हो तो पूरी नींद लें। नींद पूरी ना होने से मेंटल हेल्थ पर निगेटिव असर पड़ता है। इससे प्रॉब्लम सॉल्व करने की क्षमता पर असर पड़ता है और आप ठीक से निर्णय लेने में खुद को सक्षम महसूस नहीं कर पाएंगे। इसलिए शरीर के साथ ही दिमाग को रिलैक्स करने के लिए पर्याप्त नींद जरूरी है।

आसपास सफाई रखें
हर काम को कल पर टालने की आदत ठीक नही है। अपने अपने आसपास की सफाई करने से दिमाग में चल रहीं फालतू की बातों को निकालने में मदद मिलती है। आसपास की गंदगी का दिमाग पर बहुत असर पड़ता है। इसलिए वर्क डेस्क और आसपास की चीजों को साफ-सुथरा रखें।