Syphilis: असुरक्षित सेक्स से हो सकती है ये खतरनाक बीमारी, शरीर के अलग-अलग अंग हो सकते हैं प्रभावित

  • Symptoms and Causes of Syphilis: जागरुकता की कमी के कारण ज्यादातर लोग असुरक्षित यौन संबंध के कारण संक्रमण की चपेट में आ रहे हैं। सिफलिस उन्हीं में से एक समस्या है। आइए, जानते हैं क्या है सिफलिस, इसके होने का कारण और लक्षण-

Avantika Jain लाइव हिन्दुस्तान, नई दिल्लीWed, 5 June 2024 11:52 AM
हमें फॉलो करें

असुरक्षित सेक्स के कारण कई तरह की समस्याएं हो सकती हैं। सिफलिस एक एसटीआई समस्या है, जो असुरक्षित यौन संबंध बनाने के कारण होती है। इस समस्या का इलाज दवा से किया जा सकता है। अगर इसका इलाज न किया जाए तो ये गंभीर समस्याओं का कारण बनता है। यह आपके दिल, दिमाग, मांसपेशियों, हड्डियों और आंखों को स्थायी रूप से नुकसान पहुंचा सकता है। संक्रमण के खतरे को कम करने के लिए, सुरक्षित सेक्स का पालन करें। यहां जानिए सिफलिस बीमारी से जुड़ी पूरी जानकारी।

सिफलिस क्या है?

सिफलिस एक यौन संचारित संक्रमण है, जो तब फैलता है जब आप किसी ऐसे व्यक्ति के साथ संबंध बनाते हैं जिसे यह संक्रमण है। ये एक तरह का बैक्टीरियल इंफेक्शन है। जिसका इलाज एंटीबायोटिक दवा से किया जा सकता है। सिफलिस गंभीर स्वास्थ्य समस्याओं का कारण बन सकता है। इस इंफेक्शन के होने पर आपके दिमाग, दिल, आंखों और तंत्रिका तंत्र को नुकसान हो सकता है। इस संक्रमण के 4 स्टेज होती हैं।

सिफलिस किसे हो सकता है?

यौन रूप से एक्टिव किसी भी व्यक्ति को सिफलिस हो सकता है, लेकिन इस खतरा तब ज्यादा होता है जब-

- कोई असुरक्षित यौन संबंध बनाता है, खासकर अगर आपके कई साथी हैं।

- किसी व्यक्ति को पहले से एचआईवी हो।

- किसी ऐसे व्यक्ति के साथ यौन संबंध बनाया हो जिसका सिफलिस पॉजिटिव हो।

- क्लैमाइडिया, गोनोरिया या हर्पीस जैसे किसी दूसरी एसटीआई के लिए व्यक्ति पॉजिटिव हो।

सिफलिस के लक्षण क्या हैं?

संक्रमण स्टेज के आधार पर सिफलिस के लक्षण अलग-अलग होते हैं। शुरुआत में ये ज्यादा संक्रामक होता है, तभी आपको लक्षण दिखने की सबसे ज्यादा संभावना होती है। पहले चरण में जननांगों पर एक या ज्यादा घाव हो सकते हैं। दूसरे चरण के दौरान, आपको दाने हो सकते हैं और फ्लू के लक्षण जैसे थकान, बुखार, गले में खराश और मांसपेशियों में दर्द का अनुभव हो सकता है। दूसरे चरण के बाद सिफलिस के लक्षण दिखना बंद हो जाते हैं। हालांकि, इसका मतलब यह नहीं है कि संक्रमण खत्म हो गया है। संक्रमण सिर्फ दवा से ठीक किया जा सकता है।

सिफलिस का कारण क्या है?

ट्रेपोनेमा पैलिडम बैक्टीरिया सिफलिस का कारण बनता है। ये संक्रमण योनि, गुदा या ओरल सेक्स के माध्यम से फैलता है। बैक्टीरिया आपके पूरे शरीर में फैलता रहता है, जो अंत म कुछ अंगों को नुकसान पहुंचा सकता है।

लेटेस्ट   Hindi News,   बॉलीवुड न्यूज,  बिजनेस न्यूज,  टेक ,  ऑटो,  करियर ,और   राशिफल, पढ़ने के लिए Live Hindustan App डाउनलोड करें।

ऐप पर पढ़ें
Advertisement