गर्मियों में जरूर ट्राई करें ये 10 पीरियड हैक्स, तुरंत मिलेगी राहत

  • किसी भी लड़की के लिए पीरियड्स के दिन काफी चैलेंजिंग होते हैं। गर्मियों के मौसम में तो ये भयंकर दर्द के साथ–साथ चिपचिपाहट, गीलापन, रैशेज, बुरी स्मेल और दस तरह की परेशानियां अपने साथ लाते हैं। आज हम 10 टिप्स आपके साथ साझा करेंगे जो पीरियड्स के दौरान आपके बहुत काम आने वाली हैं।

Anmol Chauhan लाइव हिन्दुस्तानThu, 13 June 2024 11:04 AM
हमें फॉलो करें

पीरियड्स के दिन किसी भी लड़की के जीवन के सबसे मुश्किल भरे दिनों में से एक होते हैं। गर्मियों के मौसम में तो ये परेशानी दोगुनी हो जाती है। भयंकर दर्द तो सहना पड़ता ही है साथ ही चिपचिपाहट, पैड पहनने की वजह से हुए रैशेज, गीलापन और दस तरह ही परेशानियां भी गर्मियों की वजह से बढ़ जाती हैं। आज हम आपको 10 छोटी–छोटी टिप्स बताने वाले हैं जिनको आप अपने पीरियड्स के दौरान ट्राई कर सकती हैं। इन हैक्स के इस्तेमाल से आपको अपने पीरियड्स के दौरान काफी राहत मिलेगी।

ये दस छोटी–छोटी बातें लाएंगी बड़े–बड़े बदलाव

1) गर्मियों में खुजली और बुरी स्मेल की दिक्कत हो सकती है। इसके लिए पीरियड्स के दौरान हमेशा लाइट कॉटन की पैंटीज पहनें। कॉटन बहुत ही सॉफ्ट और हवादार फैब्रिक होता है। इससे बुरी स्मेल और खुजली दोनों होने का खतरा नहीं रहता।

2) पीरियड्स के दौरान साफ सफाई का बहुत ध्यान रखें क्योंकि इस दौरान हमें इन्फेक्शन होने का खतरा कई गुना बढ़ जाता है। पैड चेंज करने के दौरान अपने प्राइवेट पार्ट को अच्छे से साफ कर लें। किसी भी तरह का ब्लड लगा नहीं रहना चाहिए। जब भी पैड चेंज करें अपने हाथों को साबुन की मदद से धोना बिलकुल भी न भूलें।

3) कई बार हम काम में व्यस्त होने के चलते अपना पैड चेंज करना भूल जाते हैं। ऐसा भूलकर भी न करें क्योंकि इससे वजाइनल इन्फेक्शन का खतरा बढ़ जाता है। साथ ही खुजली और रैशेज होना तो एकदम तय है। कोशिश करें कि हर चार से पांच घंटे के भीतर ही नियमित रूप से अपने पैड को चेंज करते रहें।

4) पीरियड्स की डेट आस–पास हो तो पैंटी लाइनर का इस्तेमाल करें। ऐसा करने से तुरंत पीरियड्स आने पर आपको पैनिक होने की जरूरत नहीं पड़ेगी साथ ही दाग लगने से भी बच जायेगा।

5) अगर हेवी फ्लो के चलते दाग लगने का खतरा बना रहता है तो नॉर्मल पैड्स की जगह हमेशा नाइट वाले पैड्स का इस्तेमाल करें। रात के लिए आने वाले पैड्स आकार में काफी लंबे और चौड़े होते हैं। आप दिन में भी उन्हीं का इस्तेमाल कर सकती हैं। अगर फिर भी समस्या बनी रहती है तो आजकल 'डायपर पैड' भी आने लगे हैं। आप उन्हें भी ट्राई कर सकती हैं।

6) पीरियड्स में ज्यादा दर्द होता है तो डॉक्टर से सलाह ले। बिना उनकी सलाह के कोई भी दवाई लेने से परहेज करें। हां आप कुछ घरेलू नुस्खों का इस्तेमाल करके जरूर देख सकती हैं। जैसे कि अपने पेट की हॉट वाटर बैग से सिकाई करना, सीधा लेटकर गहरी सांस लेना, सौंफ और अजवाइन का पानी पीना।

7) पीरियड्स के दौरान अपने खान–पान का ध्यान रखना भी बेहद जरूरी है। इस दौरान बहुत कुछ खाने का मन करता है लेकिन कोशिश करें कि जंक फूड को अवॉइड करें। ज्यादा से ज्यादा पानी पीएं। स्वाद के लिए थोड़ी सी डार्क चॉकलेट भी खा सकते हैं, ये दर्द से राहत देगी।

8) अगर आपको भी रैशेज की समस्या हो जाती है तो कभी भी खुशबूदार पैड्स का इस्तेमाल ना करें। मार्केट में बिना खुशबू वाले पैड्स भी मिलते हैं आप अपने लिए उन्हें खरीद कर ला सकती हैं। ध्यान रहे प्राइवेट पार्ट को पानी से धोकर क्लीन करती रहें ताकि बदबू की समस्या ना हो।

9) गर्मियों में लंबी छुट्टियों पर घूमने जा रही हैं तो पैड्स की जगह टैंपूंस या मेंस्ट्रुअल कप का इस्तेमाल कर सकती हैं। इन्हें पहनने से दाग का खतरा भी नहीं होता साथ ही बार–बार बदलने का झंझट भी खत्म हो जाता है।

10) पीरियड्स की डेट में अगर किसी भी तरह की जल्दी / देरी हो रही है, या फिर नॉर्मल से ज्यादा दर्द और ब्लीडिंग हो रही है। तब ऐसी स्थिति में तुरंत डॉक्टर को दिखाएं। पीरियड्स बहुत ही सेंसिटिव मुद्दा है इसे लेकर किसी भी तरह की ढील ना करें। सोशल मीडिया या कहीं से भी सुनी सुनाई बातों को बिना सोचे समझे इस्तेमाल करने से बचें।

लेटेस्ट   Hindi News,   बॉलीवुड न्यूज,  बिजनेस न्यूज,  टेक ,  ऑटो,  करियर ,और   राशिफल, पढ़ने के लिए Live Hindustan App डाउनलोड करें।

ऐप पर पढ़ें
Advertisement