फोटो गैलरी

Hindi News लाइफस्टाइल हेल्थWorld AIDS Day 2023: हर साल 1 दिसंबर को क्यों मनाया जाता है वर्ल्ड एड्स डे, जानें क्या है इस साल की थीम

World AIDS Day 2023: हर साल 1 दिसंबर को क्यों मनाया जाता है वर्ल्ड एड्स डे, जानें क्या है इस साल की थीम

World AIDS Day 2023: एड्स रोग में शरीर का इम्यून सिस्टम कमजोर होने की वजह से शरीर बीमारियों से बचाव नहीं कर पाता है। यह HIV वायरस से इन्फेक्शन की वजह से होता है। सबसे पहली बार, वर्ल्ड एड्स डे 01 दिसंब

World AIDS Day 2023: हर साल 1 दिसंबर को क्यों मनाया जाता है वर्ल्ड एड्स डे, जानें क्या है इस साल की थीम
Manju Mamgainलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीFri, 01 Dec 2023 09:49 AM
ऐप पर पढ़ें

World AIDS Day 2023: दुनियाभर में हर साल 1 दिसंबर को विश्व एड्स दिवस के रूप में मनाया जाता है। यह खास दिन लोगों के बीच HIV संक्रमण के प्रति जागरूकता फैलाने के लिए मनाया जाता है। इस बीमारी में शरीर का इम्यून सिस्टम कमजोर होने की वजह से शरीर बीमारियों से बचाव नहीं कर पाता है। यह HIV वायरस से इन्फेक्शन की वजह से होता है। 

ये भी पढ़ें- विश्व एड्स दिवस पर इन कोट्स और मैसेज के जरिए फैलाएं जागरूकता

विश्व एड्स दिवस का इतिहास-
बता दें, सबसे पहली बार, वर्ल्ड एड्स डे 01 दिसंबर, 1988 को मनाया गया था। वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन के 2022 के डाटा के अनुसार, दुनिया भर में लगभग 3.6 करोड़ लोग, एचआईवी पॉजिटिव हैं। एड्स से बचाव और उसकी रोकथाम के लिए, लोगों को इस बीमारी के प्रति जागरूक होना बेहद जरूरी है। अपने इस मकसद के साथ वर्ल्ड एड्स मनाने की शुरूआत की गई। 

विश्व एड्स दिवस की थीम-
हर साल विश्व एड्स दिवस के लिए एक खास थीम रखी जाती है। इस साल वर्ल्ड एड्स डे की थीम लेट कम्यूनिटीज लीड (Let Communities Lead)रखी गई है। एड्स की रोकथाम में समाज की अहम भूमिका के बारे में लोगों को बताने के लिए, इस खास थीम को चुना गया है।

यह भी पढ़ें: एचआईवी-एड्स को रोकने में कम्युनिटी कर सकती है योगदान, जानिए कैसे

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें