फोटो गैलरी

Hindi News लाइफस्टाइल हेल्थWorld Aids DAY 2023: HIV और AIDS से जुड़े इन मिथकों को सच मानते हैं लोग, यहां जानिए कुछ फैक्ट्स

World Aids DAY 2023: HIV और AIDS से जुड़े इन मिथकों को सच मानते हैं लोग, यहां जानिए कुछ फैक्ट्स

World Aids Day 2023 Myths: एड्स एक लाइलाइज बीमारी है। जिससे बचने के लिए जागरुकता जरूरी है। ऐसे में यहां हम बता रहे है, एड्स से जुड़े कुछ ऐसे मिथकों के बारे में जिसे लोग सच मानते हैं।

World Aids DAY 2023: HIV और AIDS से जुड़े इन मिथकों को सच मानते हैं लोग, यहां जानिए कुछ फैक्ट्स
Avantika Jainलाइव हिंदुस्तान,नई दिल्लीFri, 01 Dec 2023 05:29 AM
ऐप पर पढ़ें

एड्स लाइलाज बीमारी है। यह वायरस हमारे इम्यून सिस्टम को प्रभावित करता है और शरीर की रोगों से लड़ने की क्षमता को कमजोर कर देता है। इससे बचने के लिए लोगों को जागरूक होना जरूरी है। यही वजह है कि हर साल 1 दिसंबर को एड्स डे मनाया जाता है। इस मौके पर हम आपको एड्स से जुड़े उन मिथकों और उनकी सच्चाई के बारे में बता रहे हैं, जिसे लोग सच मानते हैं।

HIV और AIDS से जुड़े मिथक

मिथक- आप किसी को देखकर बता सकते हैं कि वह एचआईवी के साथ जी रहा है। 

फैक्ट्स- आप एचआईवी पॉजिटिव लोगों की पहचान उनके लक्षणों से नहीं कर सकते। क्योंकि उनमें कोई खास लक्षण नहीं होते। कई बार लक्षण दूसरी स्वास्थ्य स्थितियों का संकेत देने वाले हो सकते हैं।

मिथक- एचआईवी के इलाज के लिए रोजान बहुत सारी दवाइयां लेने की जरुरत होगी 

फैक्ट्स- वर्षों पहले, एचआईवी से पीड़ित लोगों को बहुत सारी दवाइयां लेने की जरुरत होती थी। हालांकि, अब, एचआईवी के इलाज में रोजाना केवल 1 से 2 दवाई होती हैं।

मिथक- जो लोग एचआईवी पॉजिटिव होते हैं सभी को एड्स होता है।

फैक्ट्स- यह पूरी तरह से गलत है। जरूरी नहीं कि जो व्यक्ति एचआईवी पॉजिटिव हो उसे एड्स भी हो। एचआईवी के लिए सकारात्मक परीक्षण होने के बाद व्यक्ति सामान्य जीवन जी सकता है और एड्स की स्थित को रोका जा सकता है।

मिथक- अगर आपको एचआईवी है तो आप व्यायाम से बच सकते हैं। 

फैक्ट्स- एचआईवी होने पर एक्सरसाइज आपकी हेल्थ की रक्षा करने का एक अच्छा तरीका है। यह थकान को रोक सकता है, इसी के साथ ये आपकी भूख में सुधार करता है, आपके तनाव को कम कर सकता है, आपकी मांसपेशियों को बनाए रख सकता है और आपकी हड्डियों की रक्षा कर सकता है।

मिथक- एचआईवी या एड्स आपकी उम्र को कम करता है

फैक्ट्स- समय रहते उपचार ले लिया जाए तो सामान्य जीवन जिया जा सकता है। लेकिन अगर व्यक्ति को इसकी जानकारी नहीं है तो इससे समस्या बढ़ सकती है। जिसस व्यक्ति को मृत्यु का खतरा हो सकता है।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें