फोटो गैलरी

Hindi News लाइफस्टाइल हेल्थTech Neck: गर्दन में दर्द की शिकायत, कहीं आप भी तो नहीं 'टेक नेक' की शिकार?

Tech Neck: गर्दन में दर्द की शिकायत, कहीं आप भी तो नहीं 'टेक नेक' की शिकार?

Tech Neck: सारा दिन लैपटॉप और मोबाइल का इस्तेमाल। तकनीक का यह बढ़ता इस्तेमाल हमें सेहत से जुड़ी कई परेशानियां दे रहा है। ऐसी ही एक समस्या है, टेक नेक। कैसे इससे बचें, बता रही हैं स्वाति शर्मा

Tech Neck: गर्दन में दर्द की शिकायत, कहीं आप भी तो नहीं 'टेक नेक' की शिकार?
Aparajitaहिंदुस्तान,नई दिल्लीSat, 25 Nov 2023 04:45 PM
ऐप पर पढ़ें

उम्र बढ़ने के साथ जोड़ों में दर्द होना, फ्रोजन शोल्डर जैसी समस्याएं आम होती हैं। महिलाओं में यह स्थिति कई बार मेनोपॉज के बाद ही आने लगती है। लेकिन तकनीक पर बढ़ती निर्भरता ने कम उम्र में ही कुछ समस्याओं को जन्म देना शुरू कर दिया है, जो शायद हमारे जीवन में देर से आने वाली थीं। ऐसी ही एक समस्या है, टेक नेक। आपको याद होगा कि जब हम लिखते समय बहुत ज्यादा झुक जाते थे तो घरवाले और टीचर हमें पोस्चर सही करने की बात कहते थे। इस तरह से पढ़ते रहने पर हम गर्दन दर्द की शिकायत करने लगते थे। इसी तरह अब लगातार लैपटॉप के आगे काम करने वाले या ज्यादा फोन इस्तेमाल करने वाले अकसर गर्दन में दर्द की शिकायत करते हैं। यह समस्या आज आम होती जा रही है और इससे निपटने के तरीके जानना आपके लिए बेहद जरूरी है। 

क्या है टेक नेक?
आज हम अपना जरूरत से ज्यादा समय कंप्यूटर और फोन के सामने काम करते हुए गुजार देते हैं। कई बार ऐसा करना हमारी मजबूरी होती है, तो कई बार लत। यहां तक कि इस वजह से छोटे बच्चों में भी गर्दन दर्द की शिकायत आने लगती है। दरअसल, लैपटॉप या मोबाइल की स्क्रीन देखते समय हम अकसर अपनी गर्दन आगे की ओर झुका लेते हैं।  ऐसे में गर्दन की मांसपेशियों में तनाव आने लगता है। इसके साथ ही इसका असर रीढ़ की हड्डी पर भी पड़ता है। सर्दियों में ऐटमॉस्फेरिक प्रेशर बढ़ जाने से यह दर्द और बढ़ जाता है। इस वजह से हमारे शरीर में दर्द को महसूस करने वाले रिसेप्टर ज्यादा संवेदनशील हो जाते हैं। इसके अलावा एक जगह बैठे रहने के कारण शारीरिक श्रम कम होता जाता है और इससे शरीर में रक्त संचार भी धीमा पड़ता है। इस वजह से भी दर्द बढ़ जाता है। विटामिन-डी की कमी भी इस दर्द का बड़ा कारण  है।

ये हैं संभावित परिणाम

सेहत के मामले में छोटी-सी लापरवाही भी बड़ी समस्या को न्योता दे सकती है। टेक नेक के साथ भी ऐसा ही कुछ है। अगर समय रहते इस समस्या को दूर न किया जाए तो इससे आपको लगातार सिर दर्द, रीढ़ की हड्डी से जुड़ी समस्याएं, गंभीर और तीखा दर्द, गर्दन पर उभार जैसी समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है।

सबसे पहले पोस्चर सुधारें
जब समस्या खराब पोस्चर की वजह से खड़ी हुई है, तो सबसे पहले उसे ही सुधारना होगा। सीधे बैठने की कोशिश करें। पोस्चर ठीक करने के लिए आप बेल्ट का सहारा भी ले सकती हैं। साथ ही भुजंग आसन, ब्रिज पोज, कैमल पोज जैसे योगासन भी मददगार साबित होंगे। पोस्चर सही होने के साथ ही आपको रीढ़ की समस्याओं में आराम मिलेगा। अगर पहले से हड्डियों या रीढ़ की समस्या से जूझ रही हैं तो चिकित्सक से सलाह लेकर ही यह आसन करें।

स्क्रीन टाइम घटाएं
अपने स्क्रीन टाइम को घटाएं। अगर आपको ऑफिस के काम की वजह से लगातार लैपटॉप के सामने बैठना पड़ता है, तो हर 45 मिनट के अंतराल में अपनी जगह से कुछ देर के लिए उठ जाएं और वहीं चल फिर लें। गर्दन की स्ट्र्रेंचग भी करें।

सिंकाई भी आएगी काम
गर्दन दर्द से राहत पाने के लिए आप सिंकाई का सहारा ले सकती हैं। गर्माहट से मांसपेशियों को राहत मिलती है। इसके लिए आप गर्म थैली से 10-15 मिनट तक गर्दन की सिंकाई कर सकती हैं। सिंकाई के साथ ही आप तिल के तेल से गर्दन की घुमावदार तरीके से मसाज कर सकती हैं।
(हड्डी विशेषज्ञ डॉ. अनूप अग्रवाल से बातचीत पर आधारित)

पहचानें लक्षण
आपको टेक नेट की समस्या है, इसे पहचानने के लिए आपको कुछ लक्षणों पर गौर करना होगा। टेक नेक होने पर आपको सिर दर्द की शिकायत बनी रहेगी, साथ ही पीठ के ऊपरी हिस्से में अकड़न महसूस होगी। इसके साथ ही आपको जबड़े में भी समस्या महसूस हो सकती है। अगर टेक नेक है तो हाथों में झनझनाहट महसूस होने के साथ, ऐसा लगेगा जैसे हाथ सही से काम नहीं कर रहे हैं या उनमें कुछ भी भारी सामान उठाने की ताकत नहीं है।
 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें