फोटो गैलरी

Hindi News लाइफस्टाइल हेल्थConstipation: वेस्टर्न टॉयलेट सीट की वजह से बनी रहती है कब्ज तो इन नुस्खों को आजमाएं

Constipation: वेस्टर्न टॉयलेट सीट की वजह से बनी रहती है कब्ज तो इन नुस्खों को आजमाएं

Constipation: हर सुबह पेट साफ करने की जद्दोजहद करते हैं तो इसका कारण वेस्टर्न टॉयलेट भी हो सकती है। हर दिन होने वाली इस कब्ज से छुटकारा पाना है तो दिनभर में इन 5 चीजों को जरूर पानी में भिगोकर खाएं।

Constipation: वेस्टर्न टॉयलेट सीट की वजह से बनी रहती है कब्ज तो इन नुस्खों को आजमाएं
Aparajitaलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीSat, 09 Dec 2023 04:31 PM
ऐप पर पढ़ें

कब्ज की समस्या बहुत सारे लोगों को परेशान करती है। कब्ज में स्टूल पास करने में दिक्कत होती है और पेट साफ नहीं होता। इसका कारण खानपान के अलावा कई बार स्टूल पास करने का तरीका भी हो सकता है। आजकल ज्यादातर घरों में वेस्टर्न सीट को लोग इस्तेमाल करने लगे हैं। जिसकी वजह से कई बार पेट साफ नहीं होता और कब्ज की समस्या होने लगती है। तो अगर आपको भी कब्ज परेशान कर रही है तो इन आयुर्वेदिक नुस्खों की मदद से कब्ज की समस्या को कम किया जा सकता है। दिनभर में खाई गई ये 5 चीजें पेट की कब्ज को खत्म करने में मदद करेंगी।

वेस्टर्न टॉयलेट से हो सकती है कब्ज की समस्या
स्टूल पास करने के लिए स्क्वाट की पोजिशन को इंसानों के लिए आइडियल पोजीशन माना गया है। स्क्वाट पोजीशन में बैठने की वजह से रेक्टम की मसल्स मजबूत होती हैं और प्यूबिक मसल्स रिलैक्स। जिसकी वजह से स्टूल पास करने में आसानी होती है। अगर कब्ज की समस्या रहती है तो डायटीशियन मनप्रीत के बताएं इन नुस्खों की मदद से कब्ज से राहत मिल सकती है। 

बेसिल सीड्स वाटर
रोजाना सुबह की शुरुआत बेसिल सीड्स वाटर के साथ करें। इसमे सॉल्यूएबल और इनसॉल्यूएबल फाइबर होता है जो बाउल मूवमेंट को आसान बनाता है। जिससे कब्ज की समस्या कम होती है। रातभर भीगे बेसिल सीड्स को सुबह एक चम्मच एक गिलास पानी में मिलाकर पिएं। 

अंजीर और खुबानी को भिगोकर खाएं
एक से दो अंजीर और एक से दो खुबानी को पानी में भिगोकर छोड़ दें। दोपहर में करीब 12 बजे इन भीगे खुबानी और अंजीर को खाएं। ये पेट के कब्ज की समस्या को कम करने में मदद करेंगे।

यह भी पढ़ें : मैग्नीशियम की कमी भी हो सकती है तनाव के लिए जिम्मेदार, जानें इस बारे में क्या कहती है रिसर्च

गोंद कतीरा
शाम को चार बजे के करीब गोंद कतीरा को पानी में एक चम्मच मिलाकर पिएं। इसके लिए पहले से ही गोंद कतीरा को पानी में भिगोकर सॉफ्ट कर लें। इसमे साल्यूएबल फाइबर होता है जो स्टूल को सॉफ्ट बनाता है और आंतों से आसानी से बाहर निकलने में मदद करता है।

डिनर के बाद खाएं मुनक्का
डिनर करने के बाद करीब 5 मुनक्का पानी में भीगे हुए खाएं। इन मुनक्कों को पहले से ही पानी में भिगोकर रख दें। डिनर करने के बाद ये मुनक्के खाएं। मुनक्का भी स्टूल को सॉफ्ट करने और आसानी से आंतों से बाहर निकालने में मदद करता है। इसके अलावा मुनक्का डाइजेस्टिव सिस्टम को भी सही रखता है। जिससे कब्ज की समस्या में आराम मिलता है। 

यह भी पढ़ें : टॉक्सिंस को बाहर कर आपके शरीर को डिटॉक्सिफाई करती हैं ये 5 आयुर्वेदिक हर्ब्स

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें